गुवाहाटी. असम में गुवाहाटी दौरे पर पहुंचे कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा है कि कांग्रेस की नेशनल हेराल्ड मुद्दे को लेकर GST से कोई नाराज़गी नहीं है.

उन्होंने कहा कि नेशनल हेराल्ड और जीएसटी विधेयक के मुद्दों के बीच कोई संबंध नहीं है और मतभेदों का समाधान होने की स्थिति में उनकी पार्टी टैक्स सुधार संबंधी कदम के पक्ष में है.

राहुल ने कहा कि मीडिया में ऐसी भावना है कि नेशनल हेराल्ड और जीएसटी में संबंध है. मैं आपको बताता हूं कि नेशनल हेराल्ड एक अलग मुद्दा है और जीएसटी अलग मुद्दा है.

बीजेपी ने कहा था GST बेतुका बिल है

राहुल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और वित्त मंत्री अरुण जेटली पर निशाना साधते हुए कहा कि जीएसटी कांग्रेस लेकर आई थी, तब मोदी जी और जेटली जी ने इसका खुलकर विरोध किया था. उन्होंने कहा था यह बेतुका है.

राहुल ने कहा दूसरी ओर हम जीएसटी के लिए कोशिश करते रहे. जीएसटी इसलिए महत्वपूर्ण है, क्योंकि यह जटिलताओं को कम करेगा. यह लालफीताशाही को दूर करेगा. हम जीएसटी के 100 फीसदी प्रस्तावक हैं.

जीएसटी को लेकर तीन मतभेद

राहुल का कहना है कि जीएसटी पर बीजेपी के साथ हमारे तीन मतभेद हैं. हमारा मानना है कि विवाद संबंधी व्यवस्था कारगर होनी चाहिए. विवाद में जो लोग शामिल हैं वे उसके समाधानकर्ता नहीं होने चाहिए.

उन्होंने कहा कि दूसरा मुद्दा टैक्स की सीमा को लेकर है. हम नहीं चाहते कि इस देश में कोई भी सरकार के पास टैक्स लगाने की असीमित गुंजाइश हो. हम गरीब लोगों, किसानों और मजदूरों का प्रतिनिधित्व करते हैं. हम नहीं चाहते कि उन पर भारी बोझ डाला जाए.