नई दिल्ली. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार पर हमला करते हुए आरोप लगाया कि वह किसानों से जमीन छीनकर धन्नासेठों को सौंपना चाहती है. राजधानी दिल्ली में जंतर-मंतर पर आयोजित एक रैली को संबोधित करते हुए आम आदमी पार्टी के नेता ने कहा कि उनकी पार्टी इस मुद्दे पर पूरे देश के किसानों को संगठित करेगी.

केजरीवाल ने प्रदर्शनकारियों से कहा कि मोदी ने किसानों का वोट लेकर और केंद्र में सरकार बनाने के बाद उनके साथ विश्वासघात किया है. केजरीवाल ने कहा कि लोकसभा चुनाव में जब किसान समुदाय ने मोदी के पक्ष में मतदान किया था तो उन्हें भरोसा था कि वह किसानों की आत्महत्याओं को रोकेंगे. उन्होंने रैली में मौजूद लोगों से कहा, “लेकिन आज किसानों को यह अहसास हो गया है कि यह सरकार किसानों की नहीं है. यह किसान विरोधी सरकार है.”

केजरीवाल ने कहा, “यह सरकार धन्नासेठों की सरकार है.” केजरीवाल ने भूमि अधिग्रहण आसान बनाने के लिए अध्यादेश लागू करने की जरूरतों पर सवाल उठाया.  उन्होंने कहा, “जल्दबाजी क्या थी? क्या कोई बहुत बड़ी आपात स्थिति थी? ऐसी भी क्या मजबूरी थी? हमारे किसान जानना चाहते हैं.” दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा कि पूरे देश के किसान भूमि विधेयक के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं.

उन्होंने कहा कि वह राजधानी दिल्ली में किसानों की जमीन उनकी सहमति के बिना नहीं लेने देंगे. मुख्यमंत्री ने कहा कि देश में किसानों की खुदकुशी तभी बंद होगी, जब किसानी फायदेमंद बनाई जाएगी. उन्होंने यह भी कहा कि वह इस मुद्दे पर सभी मुख्यमंत्रियों को पत्र लिखेंगे.
IANS