नई दिल्ली. पूर्व कानून मंत्री शांति भूषण शेयर ट्रांसफर मामले में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर केस करने की तैयारी कर रहे हैं.

शांति भूषण ने एसोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड (एजेएल) के शेयर्स को यंग इंडिया लिमिटेड (वाईआईएल) को ट्रांसफर किए जाने को गैरकानूनी करार दिया है. उनका कहना है कि उनके पिता ने एजेएल के शेयर खरीदे थे और अब उन पर उनके वारिसों का हक है.

भूषण ने कहा कि मेरे पिता ने 1938 में अपने नाम पर शेयर्स खरीदे थे. मेरे पिता के 10 बच्चे थे जिनमें से तीन नहीं रहे. मुझे पिताजी के वारिसों के हस्ताक्षर लेने हैं ताकि सभी 300 शेयर्स का मालिकाना हक पिताजी से उनके नाम पर हो सके. मैंने पिता के वारिसों को उन शेयर्स का मालिकाना हक दिलाने की प्रक्रिया शुरु कर दी है.

उन्होंने कहा कि मैं एजेएल से वाईवाईएल में शेयर्स के ट्रांसफर को चुनौती दूंगा. शेयर को इस तरह से ट्रांसफर करना गैर कानूनी है. भूषण का कहना है कि इस प्रक्रिया में कुछ वक्त लगेगा लेकिन वह इस मामले को कोर्ट में जरूर ले जाएंगे.

बता दें कि बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने एजेएल का मालिकाना हक वाईआईएल में ट्रांसफर किए जाने को चुनौती देते हुए इसे गैर कानूनी करार दिया था. 19 दिसंबर को सोनिया और राहुल को इस केस में कोर्ट में पेश होना है. सोनिया गांधी और राहुल गांधी यंग इंडिया लिमिटेड के डायरेक्टर हैं.