नई दिल्ली. जापान के प्रधानमंत्री शिंजो अबे आज भारत के तीन दिन के दौरे पर पहुंच गए हैं. पीएम अबे आज शाम 4 बजे विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से भी मुलाकात करेंगे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ जापान पीएम की शनिवार को सालाना शिखर वार्ता होगी. वार्ता के बाद दोनो वाराणसी की गंगा आरती के लिए निकलेंगे. 
 
बुलेट ट्रेन के लिए करार
दोनों देशों के बीच भारत की पहली बुलेट ट्रेन नेटवर्क के लिए 98,000 करोड़ रुपए के करार के साथ-साथ कई अहम समझौते होंगे. दोनों देशों के बीच बेहतर तालमेल बिठाने और विशेष रणनीतिक संबंधों को नई ऊंचाई पर ले जाने पर ज़ोर होगा.
 
गंगा आरती में लेंगे हिस्सा
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और शिंजो अबे शनिवार की शाम काशी में होंगे. इस यात्रा को लेकर वाराणसी में सभी तैयारियां लगभग पूरी हो गई हैं. प्रोटोकोल के मुताबिक दोनो प्रधानमंत्री का विमान चार बजे बाबतपुर एयरपोर्ट पर उतरेगा, रनवे पर ही भव्य स्वागत की तैयारियां की गई हैं. भारतीय संस्कृकि के अनुसार दोनों पीएम को रोली-टीका लगाकर आरती उतारी जाएगी. इसके बाद शाम छह बजे दसाश्वमेध घाट पर गंगा आरती में हिस्सा लेंगे. गंगा आरती को भव्य बनाने के लिए इंटरनेशनल इवेंट कंपनी की व्यवस्था की गई है. 
 
नाव पर चर्चा और सिक्युरिटी अरेंजमेंट्स
घाटों को चारो ओर से सील कर दिया गया है और 48 घंटे पहले ही गुरुवार की सुबह से आम लोगों की आवाजाही बंद कर दी गई है. घाट पर होने वाले कार्यक्रम के लिए लोकल एडमिनिस्ट्रेशन ने मंजूरी दे दी है. हालांकि इसमें नियमों का सख्ती से पालन करने की बात भी कही गई है. सिक्युरिटी के लिए फिलहाल तीनों सेनाओं के जवानों की घाटों पर तैनाती कर दी गई है. दो दिनों तक वहां के नाव वालों को भी घाट पर जाने की इजाजत नहीं होगी.
 
मोदी और शिंजो भी नेवी की बोट पर बैठकर बातचीत करेंगे. घाटों, मंदिरों और महलों पर शार्प शूटर तैनात रहेंगे. जापान के सिक्युरिटी एजेंट्स यहां तीन दिन पहले ही पहुंच चुके हैं. दोनो पीएम की ड्रोन और 120 सीसीटीवी कैमरों से निगरानी होगी.
 
पिछले साल टोक्यो में हुई शिखर वार्ता के दौरान दोनों प्रधानमंत्रियों ने द्विपक्षीय संबंधों का स्तर बढ़ाकर विशेष सामरिक और वैश्विक भागीदारी के स्तर पर ले जाने पर सहमति जताई थी.