मुंबई. मुंबई हमलों के दौरान निशाना बनाए गए ठिकानों की वीडियो रेकी करने के आरोपी डेविड हेडली की सरकारी गवाह बनने की पेशकश को मुंबई कोर्ट ने मंजूर कर लिया है. अब अगले साल 8 फरवरी को अगली सुनवाई होगी और हेडली सज़ा माफी की शर्तों पर मुंबई हमलों से जुड़े लोगों के सारे राज उगलेगा.
 
मुंबई हमलों के सिलसिले में ही अमेरिका में 35 साल की सज़ा काट रहे हेडली ने इससे पहले दिन में वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए कोर्ट में पेशी के दौरान सज़ा से माफी मिलने पर सरकारी गवाह बनने की पेशकश की थी.
 
हेडली की इस पेशकश पर सरकारी वकील उज्जवल निकम ने कोर्ट से पेशी को आधा घंटा के लिए रोकने कहा ताकि वो जांच अधिकारियों से हेडली पर राय-मशविरा कर सकें. इसके बाद निकम ने हेडली की पेशकश पर हामी भर दी और फिर उसे कोर्ट ने मंजूर कर लिया.
 
हेडली ने पेशी के दौरान कहा कि मुंबई हमलों को लेकर अमेरिका में भी उस पर ऐसे ही आरोप लगे थे जिसे उसने कबूला था और सज़ा काट रहा है. हेडली ने कहा कि अगर भारत में उसे सज़ा से छूट मिले तो वो हमलों को लेकर सारे सवालों का जवाब देने को तैयार है.