नई दिल्ली. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि ऑड-ईवन संख्या की कारों के नियम के लिए कार पूलिंग ही एकमात्र उपाय है और इसके लिए एक कार पूलिंग एप भी लांच किया जाएगा. केजरीवाल ने कहा, “दिल्ली में पिछले एक महीने में प्रदूषण के स्तर को देखते हुए इसे कम करने के लिए हमें कुछ उपाय करने जरूरी थे.”
 
उन्होंने कहा, “इससे निपटने का एकमात्र व्यावहारिक उपाय कार पूलिंग है. अगर किसी एक मोहल्ले के तीन-चार लोग इसके लिए समन्वय कर लें तो नए नियम का पालन करने में कोई समस्या नहीं होगी. मेरे मंत्रियों और सरकारी अधिकारियों समेत हम सब भी इस नियम का पालन करेंगे.”
 
एक निजी चैनल की वरिष्ठ पत्रकार बरखा दत्त की किताब ‘दिस अनक्वाइट लैंड’ के विमोचन के अवसर पर केजरीवाल ने कहा, “हम सभी कार पूलिंग करेंगे. यह सबसे ज्यादा व्यावहारिक है.” केजरीवाल ने कहा, “यह उम्मीद न करें कि 15 दिनों में ही सार्वजनिक परिवहन में सुधार हो जाएगा. हम 4,000-5,000 बसें लाने और मेट्रो की क्षमता को 15-20 प्रतिशत बढ़ाने की कोशिश कर रहे हैं.” मुख्यमंत्री ने कहा, “यह नियम अभी 15 दिनों के लिए टेस्ट के तौर पर लागू किया जा रहा है.  ऐसा लोगों और उनके बेहतर स्वास्थ्य के लिए किया जा रहा है.”
 
इससे पहले केजरीवाल ने कहा था कि रोगियों को ले रही कारों और अकेली महिला कार चालकों को ऑड-ईवन कार संख्याओं वाले नियम से मुक्त रखा जाएगा. 
 
केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात के बाद केजरीवाल ने कहा था कि दिल्ली सरकार की यातायात नियंत्रण योजना के लिए उन्हें केंद्र सरकार से सकारात्मक जवाब मिला.