मुंबई. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत के राम मंदिर पर बयान देने के बाद शिवसेना ने आरएसएस का समर्थन करते हुए कहा है कि राम मंदिर मामले में वो संघ के साथ हैं. शिवसेना ने भागवत की तारीफ करते हुए मोदी सरकार पर तंज भी कसा है.

शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में भागवत के बयान की तारीफ करते हुए लिखा है कि पार्टी संघ प्रमुख भागवत के बयान का समर्थन करती है और इस मुद्दे पर उनके साथ है, लेकिन आरक्षण और राम मंदिर जैसे बयानों और भागवत की भूमिका से बीजेपी क्या एक्शन लेगी इसका हमे पता नहीं है.

इतना ही नहीं बीजेपी पर तंज कसते हुए शिवसेना ने लिखा है कि केंद्र में बीजेपी की हिंदुत्ववादी सरकार है. लेकिन सरकार राम मंदिर, जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 जैसे विषयों को बस्ते में बांधकर कामकाज चला रही है. ऐसे में बीजेपी के सामने बड़ा सवाल यह है कि भागवत की राम मंदिर निर्माण की घोषणा के बाद क्या करना चाहिए.

शिवसेना ने ये भी कहा है कि हम मानते हैं कि पीएम नरेंद्र मोदी में राम मंदिर निर्माण की हिम्मत और धमक दोनों निश्चित तौर पर हैं. जिस दिन वह इस निर्माण कार्य को अपने हाथ में लेंगे, उनकी लोकप्रियता में कई गुना का इजाफा होगा.