चेन्नई. बाढ़ से बेहाल तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई में हालात धीरे-धीरे सुधर रहे हैं लेकिन कल रात फिर से शुरू हुई बारिश राहत कार्यों को और मुश्किल बना रही है. चेन्नई में सेना और एनडीआरएफ के जवान बाढ़ में फंसे हजारों लोगों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचा चुके हैं लेकिन सैकड़ों लोग अब भी फंसे हैं.
 
इस बीच जिन इलाकों से पानी उतरा, वहां लोग जरूरत की चीजें लेने के लिए घरों से बाहर निकले. कुछ लोग बाढ़ में फंसे लोगों तक खाने की चीजें और दूध के पैकेट पहुंचाने के लिए भी आगे आए. बाढ़ की वजह से ट्रेनें ठप हैं और एयरपोर्ट भी 6 दिसंबर तक बंद है. चेन्नई के अलावा तमिलनाडु के बाढ़ प्रभावित तीन अन्य जिलों में बिजली नहीं है, खाने-पीने के समानों का अभाव बना हुआ है. यह त्रासदी अब तक 325 लोगों की जान ले चुकी है. अधिकारियों का कहना है कि मृतकों की संख्या बढ़ सकती है. पानी हटने के बाद शवों के मिलने से इनकार नहीं किया जा सकता. हजारों सैनिक, सामाजिक कार्यकर्ता पानी के बीच फंसे लोगों को निकाल कर सुरक्षित जगहों पर पहुंचाने और इनके बीच खाने-पीने का समान और कंबल बांटने में लगे हुए हैं.
 
 
कुछ प्रमुख डवलपमेंट्स:
1. आज से एयरपोर्ट पर आंशिक रुप से विमान सेवाएं शुरु हो जाएंगी. रन-वे को सुरक्षित पाए जाने के बाद ये फ़ैसला लिया गया है.
2. भारतीय हवाईअड्डा प्राधिकरण (AAI)के चेयरमैन के मुताबिक़ विमान सिर्फ़ दिन के समय ही उड़ान भरेंगे.
3. तमिलनाडु सरकार के मुताबिक़ बस सेवा भी 65 फ़ीसदी तक बहाल हो गई हैं.
4. राज्य सरकार का दावा है कि 85 फ़ीसदी इलाक़ों में बिजली सेवा शुरू कर दी गई है हालांकि कई इलाक़ों में मोबाइल नेटवर्क कमज़ोर होने की वजह से कनेक्टिविटी की समस्या बनी हुई है. कई इलाक़े अब भी पानी में पूरी तरह से डूबे हुए हैं. 
5. बारिश और बाढ़ में फंसे चेन्नई के लोगों के लिए साउथ सेंट्रल रेलवे ने हैदराबाद और काकीनाडा पोर्ट से विशेष ट्रेनें शुरू की है.
6. इससे पहले चेन्नई-गुडुर सेक्शन पर कई रेलवे पुलों के पानी में डुब जाने की वजह से रेलवे ने कल आधा दर्जन से ज़्यादा ट्रेनों को रद्द कर दिया था.
7. वहीं दक्षिण रेलवे भी फंसे लोगों को मदद पहुंचाने के लिए मैंगलोर से एराकोणम के लिए विशेष ट्रेनें चला रहा है. इन ट्रेनों का ठहराव कई जगहों पर दिया गया है ताकि लोग ज़्यादा से ज़्यादा फ़ायदा उठा सकें.
8. मुख्यमंत्री जयललिता ने आम लोगों को राहत देते हुए, अगले 4 दिनों तक बस सेवा पूरी तरह से फ्री कर दिया है. इस फ्री बस सेवा का लाभ  दिसंबर तक उठाया जा सकेगा.
9. वित्त मंत्रालय ने चेन्नई के बंद बैकों को जल्द-से-जल्द अपनी सेवाएं शुरु करने का आदेश दिया है. इसके साथ ही लोगों तक एटीएम जैसी बुनियादी सुविधा भी मुहैया कराने को कहा गया है. भारी बारिश और बाढ़ से प्रभावित चेन्नई में इन सेवाओं को अस्थायी तौर पर रद्द कर दिया गया था.
10. बाढ़ प्रभावित इलाकों में बैंक रविवार को भी खुले रहेंगे और रोज़ाना तय से ज़्यादा समय तक काम करेंगे.
 
 
बिजली ठप होने से 18 मरीजों की दर्दनाक मौत
राज्य में बारिश से चेन्नई, कुड्डालोर, कांचीपुरम और तिरुवल्लूर बुरी तरह प्रभावित हुए हैं. चेन्नई के बड़े प्राइवेट अस्पताल मद्रास इंस्टीट्यूट ऑफ ऑर्थोपेडिक्स एंड ट्रॉमेटोलॉजी में ऑक्सीजन सप्लाई बंद होने से 18 मरीजों ने दम तोड़ा.
 
अस्पताल के डॉक्टरों के मुताबिक अचानक बिजली ठप होने की वजह से ऑक्सीजन की सप्लाई बंद हो गई, जिससे आईसीयू में भर्ती मरीजों की मौत हो गई. हादसे के बाद अस्पताल के सभी मरीजों को दूसरे अस्पतालों में भर्ती करा दिया गया है. तमिलनाडु सरकार ने मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं. अस्पताल के प्रबंधन निदेशक पृथ्वी मोहनदास ने मीडिया को बताया कि बिजली न होने की वजह से अस्पताल में उपकरण काम नहीं कर रहे हैं. अस्पताल का बिजली का बैक-अप सिस्टम भी खराब हो गया है.
 
एमरजेंसी टॉल फ्री नंबर : 1910, स्टेट एमरजेंसी : 1070, डिस्ट्रिक्ट एमरजेंसी : 1077, बिजली : 1912, दमकल : 101, एम्बुलेंस : 108, पेड़ गिरने या पानी जमने के लिए  – 1913, गंदे पानी का अतिप्रवाह – 45674567, 22200335
 
एजेंसी इनपुट भी