नई दिल्ली. देश के पूर्व कानून मंत्री और वरिष्ठ वकील शांति भूषण ने आरोप लगाया है कि दिल्ली का अरविंद केजरीवाल सरकार भ्रष्टाचार में लिप्त है. भूषण ने कहा कि करोड़ों की डील हो रही है और इस सरकार में जनता को धोखा देकर अब ये पावर के मजे ले रहे हैं.
 
शांति भूषण ने कहा कि दिल्ली यूनिवर्सिटी के छात्र संघ चुनाव में आम आदमी पार्टी ने 2-3 करोड़ रुपए खर्च किए जो पैसा कहां से आया कोई नहीं बताता. उन्होंने कहा कि इनलोगों ने जनता को धोखा देकर सब कुछ पा लिया है और अब ये पावर के मजे लेंगे.
 
दिल्ली के विधायकों का वेतन बढ़ाने के मसले पर वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण ने कहा कि सैलरी बढ़ने पर अन्ना हजारे की बात सच साबित हुई. गलत तरीके से सैलरी बढ़ाने का आरोप लगाते हुए प्रशांत भूषण ने कहा कि सैलरी बढ़ने से विधायक काम के बदले आरामतलबी करेंगे.
 
विधायकों की सैलरी बढ़ाने पर एक समय आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता रहे योगेंद्र यादव ने कहा कि सैलरी बढ़ाने का नियम और कायदा होना चाहिए. यादव ने कहा कि दिल्ली के अंदर जिस तरह की परिस्थिति है उसमें सैलरी बढ़ाना उचित नहीं है. 
 
सैलरी बढ़ाने के मुद्दे पर आम विधायक पंकज पुष्कर ने कहा कि चार गुना सैलरी बढ़ाने का फैसला सही नहीं है. उन्होंने कहा कि बेहतर होता कि दिहाड़ी शिक्षकों की सैलरी बढ़ाई जाती और कच्ची नौकरी वालों की नौकरी ठोस करने के उपाय किए जाते.