नई दिल्‍ली. केंद्रीय महिला और बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने पर्यावरण संकट के लिए भारत को भी जिम्मेदार ठहराया है. उन्होंने कहा कि जलवायु परिवर्तन के मामले में हम केवल पश्चिमी देशों को दोषी नही ठहरा सकते. पर्यावरण को नष्‍ट करने के लिए भारत भी जिम्‍मेदार है.

मेनका गांधी ने एक न्यूज़ चैनल से बातचीत में कहा कि भारत, चीन और ब्राजील मीथेन के प्रमुख उत्‍पादक हैं लेकिन हम इस बारे में नहीं सोच रहे. पर्यावरण के लिहाज से मीथेन गैस कार्बन डाइआक्‍साइड से 26 गुना ज्‍यादा नुकसान पहुंचता है.

उन्होंने कहा कि चेन्‍नई में जोरदार बारिश के कारण बाढ़ जैसी स्थिति ग्‍लोबल वार्मिंग का ही परिणाम है. चेन्नई में लगातार बारिश और बाढ़ के कारण अब तक करीब 180 लोगों की मौत हो चुकी है.