मुंबई. अंडरवर्ल्ड डॉन दाउद इब्राहिम की मुंबई में जब्त की गई एक संपत्ति नीलाम होने वाली है लेकिन इसे खरीदने की हिम्मत कौन करेगा यह सवाल बना हुआ है. दाऊद की 12 जब्त संपत्तियों की पहले भी नीलामी हो चुकी है जिसे दिल्ली के एक वकील अजय श्रीवास्तव और एक अन्य व्यापारी ने खरीदा था. हालांकि आज भी उन्हें संपत्ति पर कब्जा नहीं मिल पाया है.
 
फिलहाल दाउद की जिस संपत्ति की नीलामी होनी है वह उसके गढ़ नागपाड़ा में टेमकर स्ट्रीट के बिल्कुल पास में स्थित एक होटल है. पहले उसे ‘रौनक अफ़रोज़’ के नाम से जाना जाता था, लेकिन बाद में उसमें ‘दिल्ली जायका होटल’ खुल गया. जब्त होने के बाद भी होटल चलने की सूचना मिलने के बाद वर्ष 2013 में उसे फिर से सील किया गया था.
 
इसी होटल में मीटिंग करता था दाउद
बताया जाता है कि हिंदुस्तान से भागने के पहले तक दाऊद इब्राहिम होटल रौनक अफरोज में ही अपनी मीटिंग किया करता था. पास की ही टेमकर स्ट्रीट पर दाऊद इब्राहिम का घर था. उसका भाई इकबाल कासकर अब भी पास की ही बिल्डिंग डामर वाला में रहता है. वैसे तो इस होटल को 1993 के धमाकों में दाऊद का नाम आने के बाद ही सील कर दिया गया था,  लेकिन दाऊद के लोगों ने ताला तोड़कर इसे किराए पर दे रखा था. जुलाई 2013 में होटल के फिर से सील होने के पहले तक यहां दिल्ली जायका नामका होटल चलता था, जिसका बोर्ड आज भी लगा हुआ है.
 
रिजर्व कीमत एक करोड़ 18 लाख
इस होटल की रिजर्व कीमत ( बेस प्राइज़) एक करोड़ 18 लाख रखी गई है और नीलामी में हिस्सा लेने वाले को 30 लाख रुपये डिपॉजिट भी जमा करना होगा. दाऊद इब्राहिम को भारत से भागे हुए दो दशक से भी ज्यादा समय हो गया है लेकिन इलाके में उसकी दहशत आज भी कायम है. आज भी लोग दाऊद या उसकी प्रापर्टी के बारे में बात करने से डरते हैं.