अहमदाबाद. गुजरात में हुए स्थानीय निकाय चुनाव के नतीजे आज घोषित किए जाएंगे. पटेल आरक्षण की मांग को देखते हुए बीजेपी के लिए यहां जीतना अहम माना जा रहा है. यहां नगर निगम, नगर पालिका, जिला पंचायत और तालुका (तहसील) पंचायत के लिए दो चरणों में वोट डाले गए थे.
 
छह नगर निगमों के लिए मतदान 22 और 29 नवंबर को नवम्बर को हुआ था, जबकि 31 जिला पंचायतों, 230 तालुका पंचायतों और 56 नगर पालिकाओं के लिए मतदान 29 नवम्बर को हुआ था. गुजरात के 6 नगर निगमों में कुल 572 सीटें हैं. अहमदाबाद में 192, सूरत में 116, वडोदरा में 76, राजकोट में 72, भावगनर में 52 और जामनगर में 64 सीटें हैं. 
 
वोटिंग की गिनती को लेकर अधिकारियों ने कहा कि राज्य निर्वाचन आयोग ने पूरे राज्य में कई स्थानों पर मतगणना के लिए सभी तैयारियां कर ली हैं.
 
हार्दिक का हो सकता है असर
 
पटेल समुदाय की नाराजगी का इस्तेमाल करते हार्दिक पटेल की वजह से बीजेपी को झटका लग सकता है क्योंकि यहां पटेल समुदाय को ओबीसी कोटे में शामिल करने की मांग कर रहे पटेल नेताओं ने चुनाव से पहले समुदाय के सदस्यों से बीजेपी के खिलाफ और कांग्रेस को वोट करने की अपील की थी. 
 
चुनाव प्रचार के दौरान कई जगह बीजेपी नेताओं को पटेलों के विरोध का सामना करना पड़ा. गुजरात में ये माना जा रहा है कि मौटे तौर पर पटेल समुदाय बीजेपी का समर्थक रहा है.
 
बता दें कि 2010 में सभी महानगरपालिकाओं और ग्रामीण इलाकों के चुनावों में बीजेपी ने दो तिहाई बहुमत प्राप्त किया था. पिछले चुनाव में बीजेपी के पास दो तिहाई बहुमत है.