नई दिल्ली. देश के मुख्य न्यायाधीश एचएल दत्तू आज रिटायर हो गए. दत्तू ने अपने रिटायरमेंट पर आयोजित समारोह में कहा कि जनहित याचिका समाज सुधारने के लिए दायर की जानी चाहिए.

दत्तू ने कहा कि जनहित याचिका समाज के सुधार को ध्यान में रखकर दायर की जानी चाहिए, किसी व्यक्ति विशेष को ध्यान में रखकर नहीं.

उन्होंने कहा कि मुख्य न्यायाधीश के तौर पर उनका कार्यकाल बहुत शानदार रहा और उन्हें अपने पूरे कार्यकाल के दौरान किसी भी बात का कोई अफ़सोस भी नहीं है.

दत्तू ने कहा, “मुझे कभी इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ा कि मेरे द्वारा केस पर फैसले के बाद लोग क्या कहते हैं.” दत्तू ने कहा कि ये उनकी किस्मत थी कि अपने कार्यकाल में वो जजों की नियुक्ति नहीं कर पाए.

एनएचआरसी चेयरमैन बनाने की अटकलों पर दत्तू ने कहा कि अभी ये साफ नहीं है कि एनएचआरसी में किसे नियुक्त किया जाएगा. उन्होंने कहा कि दिल्ली में वायु प्रदूषण का मामला जब उनके पास आया तो कोर्ट ने तुरंत सुनवाई की लेकिन अभी भी इसको लेकर बहुत कुछ करना बाकी है.