नई दिल्ली. लोकसभा में असहिष्णुता पर बहस के दौरान बीजेपी नेता मीनाक्षी लेखी ने कहा है कि देश में असहिष्णुता  नहीं है, बल्कि लोकतांत्रिक तरीके से चुनी गई सरकार को बदनाम करने के लिए साजिश रची जा रही है. मीनाक्षी लेखी ने कहा कि  गृह मंत्रालय के अनुसार 57 सबसे बड़ी खतरनाक सांप्रदायिक घटनाएं ऐसे राज्यों में हुई हैं, जहां कांग्रेस या अन्य पार्टियों की सरकार है. उन्होंने कहा कि ऐसी घटनाओं में पिछले 14 महीनों में कमी ही आई है.

लेखी ने कहा कि  सरकार ने साल 2014 तक 35 किताबों पर प्रतिबंध लगाया है और उनमें से 31 किताबें काग्रेस सरकार में प्रतिबंधित की गई हैं. उन्होंने कहा कि  हमारी सरकार में सिर्फ एक किताब पर प्रतिबंध लगाया गया है और वह भी पुणे कोर्ट के कहने पर किया गया है.