नई दिल्ली. राजधानी दिल्ली के अंदर कैब में महिलाओं के साथ छेड़छाड़ का एक और मामला सामने आया है. रिपोर्ट्स के मुताबिक  3 नवंबर की रात इंडियन सुपर लीग में काम करने वाली एक लड़की ने अपने दो साथियों के साथ जवाहरलाल नेहरु स्टेडियम से वसंत कुंज के लिए कैब बुक की थी. 
 
आरोप है कि कैब ड्राइवर (सुनील सिंह) ने गाड़ी में बैठी लड़की के साथ अभद्र व्यवहार तो किया साथ ही उसे दो घंटे तक जबरन इधर उधर घुमाता रहा. यही नहीं उसने लड़की के साथ मारपीट भी की.
 
पुलिस ने देखकर भी नहीं दिया साथ
 
वारदात के समय जब गाड़ी चाणक्यपुरी इलाके में थी तब लड़की ने वहां मौजूद दो पुलिस कर्मियों से मदद मांगी लेकिन उन्होंने उसे नजरअंदाज कर दिया. लड़की ने नशे में धुत ड्राइवर की जानकारी 100 नंबर पर कॉल करके तो दी, साथ ही अपने परिजनों को भी इसकी जानकारी दे दी थी. 
 
रेप से बाल-बाल बची
 
दो घंटे घुमाने के बाद ड्राइवर लड़की को करीब रात 12 बजे त्यागराज स्टेडियम ले गया जहां कैब का मालिक और एक शख्स पहले से वहां मौजूद थे. यहां उन लोगों ने लड़की के साथ छेड़खानी के बाद मारपीट की. इसी बीच लड़की के घरवाले मौके पर पहुंच गए.
 
जानकारी के अनुसार पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली है साथ ही टैक्सी ड्राइवर सुनील सिंह और मालिक हरजोत सिंह को गिरफ्तार कर लिया है. साथ ही जांच की जा रही है कि लड़की की मदद न करने वाले पुलिसकर्मी कौन थे ?