पटना. बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान किए गए वादों में से मुख्यमंत्री मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक और वादा निभा दिया है. नीतीश ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि वो नवंबर 2017 तक राज्य में सबको मुफ्त बिजली कनेक्शन मुहैया कराना सुनिश्चित करें. गुरुवार को उन्होंने पटना में अप्रैल से शराब की बिक्री पर प्रतिबंध लगाने का ऐलान किया था.
 
अधिकारियों ने कहा कि बिजली का कनेक्शन मुफ्त में मिलेगा, लेकिन जितनी बिजली लोग खर्च करेंगे, उन्हें उसके बिल का भुगतान करना होगा. इस परियोजना में सरकार का खर्च 1,500-1,800 करोड़ रुपये तक बढ़ सकता है. इससे पहले बिजली का मुफ्त कनेक्शन देने का वादा गरीबी रेखा से नीचे के लोगों के लिए किया गया था, लेकिन अब इसे गरीबी रेखा श्रेणी से ऊपर के लोगों को भी मुहैया कराया जाएगा, जिससे इसका फायदा राज्य के और 50-60 लाख परिवारों को मिलेगा. 
 
नीतीश कुमार का आदेश, बिहार में सबको मुफ्त बिजली कनेक्शन बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि वो नवंबर 2017 तक राज्य में सबको मुफ्त बिजली कनेक्शन मुहैया कराना सुनिश्चित करें. बिहार में 39,073 गांवों में से 2,719 गांवों को बिजली की सुविधा दी जानी है. नवंबर, 2005 में शहरी क्षेत्रों में बिजली की उपलब्धता शहरी क्षेत्रों में छह से आठ घंटे थी और ग्रामीण इलाकों में दो से तीन घंटे लेकिन 2015 में शहरी क्षेत्रों में बिजली 22-24 घंटे और ग्रामीण इलाकों में 15-16 घंटे तक रहने लगी है.