नई दिल्‍ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व पीएम मनमोहन सिंह को जीएसटी बिल पर चर्चा के लिए चाय पर न्‍योता दिया है. पीएम और कांग्रेस के दोनों नेताओं के बीच यह मुलाकात आज शाम 7 बजे तक हो सकती है. संसदीय कार्य मंत्री एम वेंकैया नायडू ने कहा, “पीएम ने कांग्रेस प्रेसिडेंट और पूर्व प्रधानमंत्री सिंह को चाय पर चर्चा के लिए बुलाया है. हम चाहते हैं कि संसद ठीक से चले.” जनता के हित में जो बिल हैं वो जल्द से जल्द पास हो.
 
‘दबाव में दिया न्योता’
कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने इस मामले पर कहा कि पीएम ने जनता के दबाव में आकर न्योता दिया है. जीएसटी के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि अगर हमारी मांगें मानी गईं तो हम इस बिल पर सरकार का समर्थन करेंगे. राहुल ने कहा कि इस विधेयक को लेकर मतभेद तो हैं लेकिन कांग्रेस पार्टी इसे पारित कराना चाहती है लेकिन जनता के हितों से कोई समझौता नहीं होने दिया जाएगा.
 
क्या है जीएसटी?
मोदी सरकार प्रपोज्ड गुड्स एंड सर्विसेस टैक्स को 1947 के बाद का सबसे बड़ा टैक्स रिफॉर्म बता रही है. यह अलग-अलग टैक्स खत्म कर उनकी जगह एक ही टैक्स सिस्टम लागू करने के लिए है. जीएसटी लागू होते ही सेंट्रल सेल्स टैक्स, एक्साइज, लग्जरी टैक्स, एंटरटेनमेंट टैक्स, ऑक्टरॉई, वैट जैसे अलग-अलग सेंट्रल और लोकल टैक्स खत्म हो जाएंगे. इससे पूरे देश में एक प्रोडक्ट लगभग एक जैसी ही कीमत पर मिलेगा.