नई दिल्ली. बॉलीवुड के सुपरस्टार सलमान खान की ‘प्रेम रतन धन पायो’ के इंटरवल में दिखे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का गुणगान करता ‘मेरा देश है महान’ वीडियो की खराब क्वालिटी और सोशल मीडिया पर खिल्ली के कारण वीडियो बनाने वाले पहलाज निहलानी की सेंसर बोर्ड प्रमुख पद से विदाई तय दिख रही है.
 
अंग्रेज़ी अख़बार मिड-डे में छपी रिपोर्ट के मुताबिक सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के अधिकारियों ने निहलानी को हटाने का निर्णय कर लिया है और इसकी घोषणा किसी भी समय हो सकती है. निहलानी के उत्तराधिकारी की तलाश शुरू हो गई है और संभव है कि तलाश पूरी होते ही घोषणा हो जाए.
 
मेरा देश है महान, मेरा देश है जवान
पहलाज निहलानी ने पीएम मोदी की महिमा करते हुए ‘मेरा देश है महान, मेरा देश है जवान’ नाम से एक सात मिनट का वीडियो बनाया था. सूचना प्रसारण मंत्रालय के अधिकारियों के मुताबिक निहलानी ने बिना सरकारी अनुमति के इस वीडियो को थिएटर्स में दिखवाया. 
 
इस वीडियो का प्रोडक्शन क्वालिटी इतनी घटिया थी कि इसे देखकर लगता ही नहीं था कि ये किसी बड़े फिल्म निर्माता ने बनाई है. फिल्म में हिन्दू, मुस्लिम, सिख और ईसाई बने युवकों की वेशभूषा ऐसी थी जैसे कोई मवाली. ऊपर से वीडियो में दुबई और मॉस्को के एक्सप्रेस-वे और इमारत उभरते भारत के तौर पर दिखा दिए गए. 
 
जेम्स बॉंड की फिल्म से किस सीन काटना आखिरी कील
सरकार वीडियो और इस वीडियो की वजह से सरकार की सोशल मीडिया पर उड़ रही खिल्ली से नाराज थी. सूत्रों के मुताबिक केंद्रीय सूचना प्रसारण मंत्री अरुण जेटली और राज्यमंत्री राज्यवर्द्धन सिंह राठौर ने निहलानी को सरकार की नाखुशी से अवगत करा दिया है.
 
सूत्रों का कहना है कि निहलानी के खिलाफ बन रहे माहौल में आखिरी कील उनका वह टीवी इंटरव्यू साबित हुआ जिसमें उन्होंने जेम्स बॉंड सीरीज की लेटेस्ट फिल्म ‘स्पेक्टर’ में हॉलीवुड अभिनेता डैनियल क्रेग की महिला अभिनेत्रियों के साथ किस सीन की संख्या 50 परसेंट कम करने को जायज ठहराते हुए यह कबूल कर लिया कि ये फिल्म उन्होंने बिल्कुल नहीं देखी है.