कैलिफोर्निया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी फेसबुक के हेडक्वार्टर में आज मार्क जुकरबर्ग से बातचीत के दौरान अपनी मां का जिक्र आने पर भावुक हो गए. मोदी ने कहा कि मां कभी नहीं चाहती है कि आप कुछ न बन पाओ. मां हमेशा चाहती है कि आप अच्छा करो. मां का बहुत बड़ा योगदान होता है. इतना कहने के बाद पीएम मोदी आंसू पोछते देखे गए. 
 
मोदी ने आगे कहा कि माता-पिता की जीवन में बड़ी भूमिका होती है. मेरी मां 90 साल से ज्यादा उम्र की है, पिता नहीं हैं. मां आज भी अपने सारे काम खुद करती हैं. टीवी के कारण वह समाचारों से अवगत रहती हैं. दुनिया में भगवान की कल्पना सभी समाजों में है. हर किसी समाज में भगवान पुरुष ही है. अकेला हिंदुस्तान है जहां स्त्री भगवान की कल्पना की गई है. दुर्गा, सरस्वती, काली.. आदि. जहां तक भारत का सवाल है अगर हमें आर्थिक विकास के टारगेट का हासिल करना है तो अपनी आधी आबादी को घर में बंद नहीं रख सकते हैं. नारी शक्ति को विकास यात्रा में शामिल करना होगा. हम इस दिशा में प्रयास कर रहे हैं. आज भी दुनिया के कई देश हैं, जहां महिला का चुनाव जीतना मुश्किल है. भारत में अनेक राज्य ऐसे हैं जहां स्थानीय निकायों में 50 फीसदी महिलाओं के लिए आरक्षण है. संसद और विधानसभाओं में भी उनकी भागीदारी तय करने के लिए बहस चल रही है. मैं जब गुजरात का सीएम था तो मैंने स्कूलों में पिता के साथ माता के नाम को भी जरूरी कर दिया था.