न्यूयॉर्क. भारत को प्रौद्योगिकी से लैस समाज के रूप में पेश करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने न्यूयार्क में मीडिया और संचार क्षेत्र की शीर्ष कंपनियों के मुख्य कार्यकारी अधिकारियों के साथ बैठक की और और बौद्धिक संपदा अधिकार (आईपीआर) की सुरक्षा करने का संकल्प व्यक्त किया.
 
प्रधानमंत्री ने इस क्षेत्र में ताजा चलन एवं भारत के संदर्भ में अवसरों के बारे में भी चर्चा की. कामकास्ट, टाइम वार्नर, डिस्कवरी, सोनी, ईएसपीएन, न्यूज कार्प, 21स्ट सेंचूरी फाक्स, डिजनी इंडस्ट्रीज, एबीसी टेलीविजन ग्रुप के शीर्ष कार्यकारी अधिकारियों के साथ बैठक के दौरान प्रधानमंत्री ने कहा, ‘यह प्रौद्योगिकी आधारित युग है. हम प्रौद्योगिकी आधारित समाज हैं.’ करीब दर्जन भर मीडिया क्षेत्र के शीर्ष अधिकारियों के साथ इस बैठक का मकसद मीडिया और संचार प्रौद्योगिकी के बारे में नए चलन और भारत के लिए अवसरों के बारे में समझ बनाना था.
 
मीडिया, प्रौद्योगिकी और संचार पर गोलमेज बैठक के दौरान प्रधानमंत्री ने बताया, हम आईपीआर के संरक्षण को प्रतिबद्ध हैं जो, रचनात्मकता को आगे बढ़ाने के लिए आवश्यक है.’ बैठक शुरू होने पर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने ट्वीट में कहा, ब्रांड इंडिया के लिए बैंडविड्थ (आंकड़ा प्रसारण दर) का विस्तार कर रहे हैं… प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मीडिया, प्रौद्योगिकी और संचार क्षेत्र के सीईओ के साथ गोलमेज बैठक में.’ अमेरिका में पीएम मोदी से सबसे पहले मुलाकात करने वाले बिजनेस लीडर्स में मास्टरकार्ड के सीईओ अजय बंगा शामिल रहे। बंगा न्यूयार्क में भारत-अमेरिका बिजनेस काउंसिल के अध्यक्ष भी हैं.
 
एजेंसी इनपुट भी