नई दिल्ली. नरेंद्र मोदी से मुलाकात के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा और उपराष्ट्रपति जो बाइडन ने बड़ी तैयारियां शुरू की हैं. हालांकि, मोदी-ओबामा मुलाकात के बारे में आधिकारिक रूप से कुछ नहीं कहा गया है लेकिन यह 28 सितंबर को हो सकती है. बता दें कि पीएम नरेंद्र मोदी की 26 और 27 सितंबर को सैन फ्रांसिस्को के विजिट के दौरान दुनिया की टॉप के कारोबारियों से भी मुलाकात होनी है. 
 
मोदी से मुलाक़ात करने वाली कंपनियों में गूगल, माइक्रोसॉफ्ट, क्वॉलकॉम भी शामिल हैं. इससे पहले, वे 35 टॉप मैनुफैक्चरिंग और फाइनेंशियल संगठनों के सीईओ से न्यू यॉर्क में आयोजित ‘मेक इन इंडिया’ इवेंट में मिलेंगे. यह मुलाकात 23 सितंबर को मोदी के न्यूयॉर्क पहुंचने के बाद होगी.
 
उपराष्ट्रपति खुद देख रहे हैं सारी तैयारियां
सितंबर की मुलाकात के लिए दोनों देशों के टॉप अफसर एक हफ्ते से तैयारियां कर रहे हैं. अमेरिकी उपराष्ट्रपति जो बाइडन खुद तैयारियों का जायजा ले रहे हैं. बाइडन ने ही कुछ साल पहले भारत यात्रा के दौरान दोनों देशों के रिश्तों में मजबूती की वकालत की थी.
 
किससे-किससे मिलेंगे 
डिप्लोमैटिक सूत्रों के मुताबिक, मोदी जिन टॉप कारोबारियों से मिलेंगे, उनमें सिस्को टेक्नोलॉजी के इग्जेक्यूटिव चेयरमैन जॉन टी चैंबर्स, माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्य नडेला, क्वॉलकॉम के पॉल जैकब, गूगल के एरिक स्मिट और सुंदर पिचाई आदि शामिल हैं. इसके अलावा, मोदी सिलिकॉन वैली के जिन अरबपति आंत्रप्रेन्योर्स से मिलेंगे, उनमें सिंम्फनी टेक्नोलॉजी ग्रुप के रोमेश वाधवानी, मोंटा विस्टा कैपिटल के वेंकटेश शुक्ला और इंटिग्रेटेड सिस्टम्स के नरेन गुप्ता होंगे.
 
कहां-कहां जाएंगे पीएम 
पीएम मोदी कैलिफोर्निया के पॉलो ऑल्टो स्थित टेस्ला कंपनी के हेडक्वॉर्टर भी जाएंगे. टेस्ला ऑटोमोबाइल और एनर्जी सेक्टर में काम करती है. इसके अलावा, पीएम स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के डॉ मनु प्रकाश से भी मिल सकते हैं. प्रकाश एक बड़े साइंटिस्ट हैं, जिनके बनाए 50 पर्सेंट माइक्रोस्कोप एशिया और अफ्रीका में बेचे जाते हैं. इसके अलावा, वे सैन जोस में भारतीय समुदाय के लोगों को भी संबोधित करेंगे.
 
एजेंसी इनपुट भी