नई दिल्ली: देश के अगले राष्ट्रपति के लिए बीजेपी ने बिहार के गवर्नर रामनाथ कोविंद को अपना उम्मीदवार बनाया है. बीजेपी का दावा है कि रामनाथ कोविंद के नाम पर एनडीए में आम सहमति है. राष्ट्रपति पद के लिए चल रही अटकलों पर आज बीजेपी ने विराम लगा दिया. जितने भी नाम चर्चा में थे, उन सबको किनारे करते हुए बीजेपी ने जिसे राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाया है, वो नाम हैरान करने वाला है. 
 
बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने आज एलान किया कि बिहार के राज्यपाल रामनाथ कोविंद राष्ट्रपति पद के लिए एनडीए के उम्मीदवार होंगे. रामनाथ कोविंद का नाम बीजेपी संसदीय बोर्ड की बैठक में तय हुआ. रामनाथ कोविंद यूपी में कानपुर देहात के रहने वाले हैं. वो बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता, दो बार राज्यसभा सदस्य और बीजेपी अनुसूचित जाति मोर्चा के अध्यक्ष रह चुके हैं.
 
रामनाथ कोविंद के नाम का एलान करने से पहले बीजेपी ने एनडीए और विपक्ष के नेताओं से संपर्क साधा था, ताकि आम राय से अगला राष्ट्रपति चुना जा सके. विपक्षी दलों के साथ बातचीत रस्म अदायगी जैसी थी. विपक्ष का कहना था कि सरकार बिना नाम बताए विपक्ष का समर्थन मांग रही है.
 
राष्ट्रपति चुनाव में बीजेपी को विपक्ष से ज्यादा बड़ी चिंता शिवसेना जैसे सहयोगी दल हैं. शिवसेना भी विपक्षी दलों की तरह मांग कर थी कि पहले बीजेपी उम्मीदवार का नाम बताए, फिर शिवसेना अपना फैसला सुनाएगी. अब रामनाथ कोविंद का नाम सामने आ चुका है और ये सवाल जस का तस है कि क्या राष्ट्रपति चुनाव में आम राय बन पाएगी ?
 
क्या रामनाथ कोविंद के नाम पर विपक्ष के साथ भी आम राय बन पाएगी ? क्या राष्ट्रपति चुनाव में बीजेपी ने दलित कार्ड खेला है, आज इन्हीं सवालों पर होगी महाबहस.
 
(वीडियो में देखें पूरा शो)