नई दिल्ली. अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी को केंद्र सरकार ने अल्पसंख्यक संस्था मानने से इनकार कर दिया है. अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी को कांग्रेस सरकार ने 1981 में एक्ट में संशोधन करके अल्पसंख्यक दर्ज़ा दिया था, जिसका विवाद सुप्रीम कोर्ट में है.

इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर

इलाहाबाद हाईकोर्ट पहले ही कह चुका है कि एएमयू माइनॉरिटी संस्था नहीं है और अब सुप्रीम कोर्ट ने भी सवाल पूछा है कि कोई सेंट्रल यूनिवर्सिटी अल्पसंख्यक संस्था कैसे हो सकती है. अब सवाल उठ रहा है कि क्या एएमयू को अल्पसंख्यक दर्ज़ा देना सही है ?
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
केंद्रीय विश्वविद्यालय को माइनॉरिटी स्टेटस क्यों और कैसे दिया जा सकता है. इंडिया न्यूज के खास शो बड़ी बहस में इसी अहम मुद्दे पर पेश है चर्चा.
 
वीडियो पर क्लिक करके देखिए पूरा शो