नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दो साल में दूसरी बार अपनी कैबिनेट का विस्तार किया. कैबिनेट में 19 नए मंत्री आए, तो पांच पुराने मंत्रियों की छुट्टी हो गई. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
राष्ट्रपति भवन में शपथ ग्रहण समारोह के तुरंत बाद निहाल चंद, रामशंकर कठेरिया, सांवरलाल जाट, मनसुख बसावा, मोहन कुंडारिया और जीएम सिद्धेश्वरा ने मंत्री पद से अपना इस्तीफा सौंप दिया.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
अब सवाल उठ रहा है कि सबका साथ, सबका विकास की बात करने वाली मोदी सरकार के कैबिनेट विस्तार से क्या विकास की रफ्तार बढ़ेगी ? मोदी की टीम में नए मंत्रियों को लाने का असली मतलब क्या है. इंडिया न्यूज के खास शो ‘बड़ी बहस’ में आज इन्हीं सवालों पर हुई चर्चा.
 
वीडियो पर क्लिक करके देखिए पूरी बहस