नई दिल्ली. यूपी के कैराना में पलायन का सच सामने लाने के लिए यूपी सरकार ने संतों की टीम को जांच के लिए भेजा था. संतों की टीम ने कहा कि कैराना से पलायन नहीं हुआ है, सिर्फ गुंडों का डर है. संतों की जांच टीम की रिपोर्ट सरकार को सौंपी गई, तभी सनातन हिंदू वाहिनी के संतों ने खून से चिट्ठी लिख दी कि सरकार पश्चिमी यूपी से हिंदुओं का पलायन रोके. कैराना पर संतों की जांच रिपोर्ट को संतों ने खून से चिट्ठी लिखकर चुनौती क्यों दी ? 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
संतों ने माना था कि दहशत की वजह से लोगों ने अपना-अपना घर छोड़ा. संतों ने कहा है कि यहां के गुंड़ो को सियासी संरक्षण मिला हुआ है. यूपी के कैबिनेटी के मंत्री शिवपाल यादव ने पांच लोगों की कमेटी बनाई थी. जिसमें ये संतों की ये टीम मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की सरकार को अपनी रिपोर्ट देगी. जिसके बाद यूपी सरकार आगे की कार्रवाई करेंगी. 
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
इंडिया न्यूज के खास शो ‘बड़ी बहस‘ में इन्हीं सवालों पर पेश है चर्चा. 
 
वीडियो पर क्लिक करके देखिए पूरा शो