नई दिल्ली. सनातन धर्म में स्वरुपानंद शंकराचार्य को सबसे बड़ा धर्म गुरु माना जाता है. शंकराचार्य जो कहते हैं, वो धर्म ज्ञान समझा जाता है. शंकराचार्य के बयानों से देख गया है कि उनकी शिरडी के साईं बाबा के साथ दुश्मनी एक साल पुरानी है. वो पिछले साल से ही फरमान सुना रहे हैं कि साईं की पूजा से सनातन धर्म को नुकसान होगा. 
 
बीच में जब महिलाओं ने शिंगणापुर में शनिदेव की पूजा का अधिकार पाने के लिए आंदोलन छेड़ा, तब शंकराचार्य ने इसके खिलाफ भी फरमान सुना दिया. अब शंकराचार्य कह रहे हैं कि महाराष्ट्र में अगर लोग साईं की बजाय गणेश जी और हनुमान जी की पूजा करें तो अकाल खत्म हो जाएगा. 
 
उन्होंने चेतावनी भी दी है कि महिलाओं के शनि पूजा करने से बलात्कार की घटनाएं बढ़ेंगी. तो क्या शंकराचार्य सही कह रहे हैं कि साईं की पूजा करने की वजह से महाराष्ट्र में अकाल पड़ा है और महिलाओं की शनि पूजा से बलात्कार की घटनाएं बढ़ेंगी? शंकराचार्य ये कैसा धर्म ज्ञान बांच रहे हैं? इंडिया न्यूज के खास शो ‘बड़ी बहस’ में आज इन्हीं सवालों पर होगी बड़ी बहस.
 
वीडियो पर क्लिक कर देखिए पूरा शो