नई दिल्ली. नेपाल के प्रधानमंत्री चीन के दौरे पर हैं वो जब काठमांडू लौटेंगे तो उसी दिन नेपाल आर्मी के चीफ बीजिंग रवाना हो जाएंगे. चीन जाने की ऐसी आपाधापी अब तक पाकिस्तान की सरकार और पाक आर्मी दिखाती थी.
 
नेपाल के पीएम के साथ मुलाकात के बाद चीन ने नेपाल में रेल दौड़ाने से लेकर हाइवे बनाने और नेपाल के लोगों को मैंडरिन यानी चीनी भाषा सिखाने तक का एलान कर दिया है. नेपाल और चीन के साथ कारोबारी और कूटनीतिक रिश्तों में कोई असामान्य बात नहीं होती अगर नेपाल और भारत के रिश्ते सामान्य होते.
 
फिलहाल नेपाल में भारत विरोधी आवाज़ें गूंज रही हैं और नेपाल की सरकार चीन के साथ पींगें बढ़ा रही हैं. अब रणनीतिक और कूटनीतिक हलकों में सवाल उठ रहे हैं कि क्या पाकिस्तान की तरह नेपाल भी खतरनाक होने लगा है.? क्या चीन से नेपाल की नजदीकियां भारत को महंगी पड़ेंगी?
 
इंडिया न्यूज के खास शो ‘बड़ी बहस’ में इन्हीं अहम सवालों पर आज होगी चर्चा.
 
वीडियो क्लिक कर देखिए पूरा शो