नई दिल्ली. हैदराबाद से लोकसभा सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने महाराष्ट्र में एक रैली की, जिसमें आरएसएस को चुनौती देने के बहाने उन्होंने भारत माता की जय बोलने से इनकार किया. उनके नक्शेकदम पर चलते हुए उन्हीं की पार्टी के विधायक वारिस पठान ने भारत माता की जय बोलने से इनकार कर दिया और उन्हें महाराष्ट्र विधानसभा से निलंबित कर दिया गया.

असदुद्दीन ओवैसी के शब्द और सोच पर राज्यसभा में जावेद अख्तर ने जितना सधा प्रहार किया, उससे करीब-करीब सारे नेता सहमत हैं. जावेद अख्तर ने साफ-साफ कहा कि भारत माता की जय बोलना हर हिंदुस्तान का कर्तव्य नहीं, बल्कि अधिकार है. फिर ओवैसी को इसमें दिक्कत क्या है ?

भारत माता की जय बोलने के सवाल पर एमआईएम के नेता भी ओवैसी की ही जुबान बोल रहे हैं, लिहाज़ा ये बहस बड़ी होती जा रही है कि क्या देश में भारत माता की जय बोलना गुनाह है ? हर पार्टी में कभी जाति, कभी धर्म और अब देश के नाम पर भी ज़हर उगलने वाले नेता आखिर क्यों हैं.

वीडियो में देखें पूरा शो