नई दिल्ली. पिछले दो हफ्तों से देश भर में जेएनयू कैंपस में लगे देश विरोधी नारों का शोर गूंज रहा है. बुधवार को देश की संसद में इस पर चर्चा हुई. विपक्ष ने देश विरोधी नारों का तो विरोध किया, लेकिन सरकार की नीयत पर हमले जारी रहे.

चर्चा का जवाब देते समय मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने दस्तावेजों के साथ जेएनयू में वामपंथी विचारधारा वाले छात्रनेताओं की करतूतें उजागर कीं और सवाल पूछा कि क्या कांग्रेस इसी को अभिव्यक्ति की आजादी मानती है ?

स्मृति ईरानी ने कन्हैया को क्लीन चिट देने वाले नेताओं को भी कठघरे में खड़ा किया. उधर दिल्ली पुलिस अब कन्हैया को दोबारा रिमांड पर लेने की तैयारी में जुटी है, ताकि कन्हैया को उमर खालिद और अनिर्बान भट्टाचार्य के सामने बैठाकर पूछताछ की जा सके.

अब ये बड़ी बहस का मुद्दा है कि सड़क से संसद तक चर्चा हो जाने के बाद क्या जेएनयू में देश विरोधी नारों पर राजनीति बंद होगी ? आरोपी छात्र देशद्रोही हैं या बेगुनाह, इसका फैसला कानून करेगा या देश के नेता ?

वीडियो में देखें पूरा शो