नई दिल्ली. जेएनयू में देशद्रोह के आरोपी उमर खालिद और अनिर्बान भट्टाचार्य ने दिल्ली हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की थी कि वो सरेंडर करना चाहते हैं, बशर्ते कि पुलिस सुरक्षा की गारंटी दे. हाईकोर्ट ने इस मामले में आरोपी छात्रों को कोई राहत दिए बिना सुनवाई बुधवार तक टाल दी है.

जेएनयू छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार की जमानत याचिका पर भी बुधवार को सुनवाई होगी. दिल्ली पुलिस अब देशद्रोह के इस मामले पर अदालत में अपना पक्ष मजबूती से रखने का एलान कर चुकी है. पुलिस का दावा है कि कैंपस में 9 फरवरी को देश के खिलाफ नारेबाज़ी हुई थी और नारे लगाने वालों के साथ कन्हैया कुमार भी देखे गए थे.

जेएनयू की अपनी जांच कमेटी ने 8 संदिग्ध युवकों की तस्वीर जारी की है, जिन्होंने देश विरोधी नारे लगाए. अब ये बड़ी बहस का मुद्दा है कि देश विरोधी 29 तरह के नारे लगाने वाले ये 8 देशद्रोही कौन हैं ? क्या देशद्रोह के आरोपियों और उनके समर्थकों की शर्त के हिसाब से चलेगा कानून ?

वीडियो में देखें पूरा शो