नई दिल्ली: गर्भवती महिलाओं को पूरे नौ महीने अपनी सेहत का खास ख्याल रखना पड़ता है. गर्भावस्था के समय महिलाओं को जो भी डाइट दी जाती है उसी के जरिए गर्भ में पल रहे बच्चे तक भी खाना पहुंचता है. ऐसी कई फायदेमंद चीजें हैं जिनके सेवन से गर्भवती महिलाओं की सेहत पर अच्छा असर पड़ता है, आंवला भी उन्हीं चीजों में से एक है. वैसे तो आंवले का सेवन आमतौर पर भी काफी किया जाता है लेकिन गर्भवती महिलाओं के लिए यह किसी संजीवनी बूटी से कम नहीं है. आज हम आपको बता रहें हैं आंवले के सेवन से गर्भवस्था में मिलने वाले कई बड़े फायदों के बारे में.

दरअसल, आंवला विटामिन सी से भरपूर होता है इसलिए अगर गर्भवती महिला इसका सेवन करती हैं तो इससे उनका शरीर आयरन की एक अच्छी मात्रा कंज्यूम करता है और शरीर में हिमोग्लोबिन का स्तर भी ठीक बना रहता है. वहीं आंवले का सेवन गर्भवती महिलाओं का खून साफ करने में मदद करता है और इसके साथ ही गर्भ में पल रहे बच्चे का भी खून साफ करता है. इतना ही नहीं गर्भवस्था के आखिरी तीन महीनों में महिलाओं को हाथ और पैरों में सूजन आने की समस्या का सामना पड़ता है लेकिन आंवले का सेवन से इसमें काफी हद तक आराम पहुंचाता है.

फाइबर्स से भरपूर आंवला कब्ज में भी असरदार होता है. वहीं गर्भावस्था में आंवले के सेवन से ब्लड प्रेशर काफी हद तक कंट्रोल रहता है. इसके साथ ही आंवले का सेवन गर्भ में पल रहे बच्चों की कैल्शियम की कमी को पूरा करता है. विटामिन सी से भरपूर आंवला फ्लू और यूरिनरी इंफेक्शन जैसे रोगों से सुरक्षित रखता है. बता दें कि एक औसतन एक आंवले में 500 mg से लेकर 1800 mg तक विटमिन सी पाया जाता है. इसके सेवन की सही मात्रा का ज्ञान होना बेहद जरूरी है. अगर आवंले को फल की तरह लिया जाए तो एक आंवला काफी है वहीं अगर पाउडर के रूप में ले रहे हैं तो 1 टी स्पून काफी है. वहीं कई लोग इसे आचार और मुरब्बे के रूप में भी लेना पसंद करते हैं और कई लोगों को जूस के रूप में भी इसका सेवन पसंद आता है.

Video: धरती के स्वर्ग वादी-ए-कश्मीर की ये खूबसूरती छू लेगी आपका दिल

फैमिली गुरु: अगले साल परिवार में मिठास बढ़ाने और रिश्ते मजबूत करने वाले 7 महाउपाय