न्यूयार्क. अमेरिका की मिशिगन यूनिवर्सिटी के साइंटिस्टों ने एक ऐसा वेब टूल बनाया है. जिससे गंभीर रूप से डिप्रेशन के शिकार लोगों के मन में आत्महत्या के विचारों को रोकने और उनका इलाज करने में डॉक्टरों की मदद करेगा. 
 
मिशिगन यूनिवर्सिटी के सदस्य श्रीजन सेन ने कहा कि, ‘यह वेब आधारित संज्ञानात्मक व्यवहार थेरेपी (डब्ल्यूसीबीटी) तनावपूर्ण स्थितियों और डिप्रेशन से गुजर रहे लोगों के दिमाग में आत्महत्या के विचारों को रोकने में सहायता करेगा और इसे मूड जिम कहा जाए तो ज्यादा बेहतर होगा. क्योंकि यह खतरनाक ना होने के साथ ही युवा डॉक्टरों को ड़िप्रेशन का पता लगाने में मदद करता है.
 
इस रिसर्च के लिेए कोनी गुली और सेन ने इस एप का 199 लोगों पर इस्तेमाल किया, जिनमें से आधे  ग्रुप को डब्ल्यूसीबीटी कराने की सलाह दी गई. वह बताते हैं कि ‘इस तकनीक के विकसित होने से युवा डॉक्टरों को मानसिक स्वास्थ्य के इलाज के लिए पुराने तरीकों की मदद नहीं लेनी पड़ेगी.’
 
IANS