नई दिल्ली.  एक रिपोर्ट के मुताबिक  दिसंबर 2015 तक  भारत  इंटरनेट इस्तेमाल करने में  अमेरिका को पीछे छोड़ देगा. भारत पिछले साल के मुकाबले इस साल 50 प्रतिशत के आंकड़े को पार कर देगा जो 2014 में 49 प्रतिशत था. लिस्ट में 600 मिलियन यूजर्स के साथ अब तक चीन  सबसे ऊपर है, दूसरे नंबर पर अमेरिका और तीसरे नंबर पर भारत है.  
 
इंटरनेट और मोबाईल एसोसिएशन ऑफ इंडिया और आईएमआरबी के मुताबिक भारत में इंटरनेट यूजर्स की संख्या 402 मिलियन के आंकड़े तक पहुच जाएगी. बता दें कि पिछले साल ये 49 प्रतिशत आंका गया था. 
 
ऐसे की भारत के यूजर्स ने ग्रोथ
 
रिपोर्ट के मुताबिक अगर 10 साल का आंकड़ा देखा जाए तो भारत ने 10 से 100 मिलियन ग्रोथ की है और अगर तीन साल का हिसाब देखे तो ये फिगर 100 से 200 मिलयन पहुंच गई थी. चौंका देने वाली बात ये है कि पिछले एक साल में  इंटरनेट यूजर्स 300 से 400 मिलियन तक पहुंच गए है.
 
आईएएमएआई के अनुसार भारत इंटरनेट के इस्तेमाल में तेजी से विकास कर रहा है. अक्टूबर 2015 में भारत में इंटरनेट यूजर्स की संख्या 375 मिलियन थी जो कि दिसंबर में आते आते कई रिकार्ड तोड़ देगी.
 
रिपोर्ट में ये भी बताया गया है कि भारत में  71 प्रतिशत पुरुष और 29 प्रतिशत महिला वर्ग इंटरनेट का इस्तेमाल कर रहा है. जिसमें 50 प्रतिशत की तेजी से पुरुष इंटरनेट इस्तेमाल करने में विकास कर रहे हैं वही महिलाएं 46 प्रतिशत से विकास कर रही हैं.