नई दिल्ली. आज के इस डिजिटल युग में पॉर्न देखने में केवल में पुरुष ही नहीं बल्कि महिलाएं भी इसमें रुचि ले रही हैं. एक नए रिसर्च से पता चला है कि हर तीन में से एक महिला वीक में कम से कम एक बार पॉर्न देखती है.
 
लंदन के समाचार पत्र ‘द इंडिपेंडेंट’ की खबर के अनुसार, अंतर्राष्ट्रीय महिला पत्रिका ‘मैरी क्लेयर’ के लिए स्पेन के ऑनलाइन सर्वेक्षण फर्म ‘टाइपफोर्म’ द्वारा किए गए रिसर्च से पता चला है कि 3,000 महिलाओं में से 90 प्रतिशत ऑनलाइन और दो-तिहाई महिलाएं अपने फोन पर पॉर्न देखती हैं. यह सर्वेक्षण पत्रिका और फोटोग्राफर अमांडा डे केडनेट की एक वृत्तचित्र परियोजना का हिस्सा है. 
 
रिसर्च में 31 प्रतिशत महिलाओं ने कहा कि वह हर वीक पॉर्न देखती हैं वहीं दूसरी 30 प्रतिशत महिलाओं का कहना था कि वह महीने में कभी-कभार ही ऐसा करती हैं. इन महिलाओं से जब पूछा गया कि वह किस तरह का पॉर्न देखती हैं, तो 63 प्रतिशत ने ‘हेट्रोसेक्सुअल’, 44 प्रतिशत ने ‘लेस्बियन’, 31 प्रतिशत ने दोनों पर हामी भरी, जबकि 13 प्रतिशत महिलाओं ने कहा कि वह ‘गे मेल पॉर्न’ देखना पसंद करती हैं.
 
रिसर्च पता चला है कि अधिकतर महिलाएं अकेले पॉर्न देखना अधिक पसंद करती हैं, वहीं ज्यादातर महिलाओं ने इस बात को माना है कि पॉर्न का उनके ‘यौन जीवन’ पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है. इस रिसर्च में शामिल ज्यादातर महिलाओं की उम्र 18 से 34 साल के बीच थी.