नई दिल्ली. गूगल, व्हाट्सएप और फेसबुक पर अपने यूजर्स की जासूसी करने का आरोप लगा है. साइबर सुरक्षा कंपनी एवास्ट ने आरोप लगाया है कि गूगल, व्हाटसएप और फेसबुक अपने यूजर्स तक उनकी पसंदीदा विज्ञापन पहुंचाने के लिए उनकी जासूसी करते हैं. इसी वजह से यूजर्स के पसंद के हिसाब से स्क्रीन पर विज्ञापन आते हैं.
 
एवास्ट के सीईओ विंसेट स्टेकलेर ने रिपोर्ट पेश करते हुए कहा, ‘गूगल विज्ञापन करने वाली कंपनी है. गूगल की आय मुख्य रूप से विज्ञापन की दुनिया से आती है. यूजर्स की रूचि का पता लगाने के लिए उनकी जासूसी और उनके लिए उसी अनुसार विज्ञापन परोसना उनका कारोबार का मॉडल है. इसमें कुछ भी गलत नहीं है.
 
मुझे लगता है कि यूजर्स को पता है कि क्या चल रहा है.’ इस मुद्दे पर गूगल के प्रवक्ता ने कहा, ‘हमारी नीति है कि हम बिना संबंधित रिपोर्ट देखे टिप्पणी नहीं करते.’ फेसबुक ने इस मामले में अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है.