कैमरा कि दुनिया में अक्सर देखा जाता है कि DSLR कैमरा में जहां ज़्यादा मेगापिक्सल, बेहतर व्यूफाइंडर, ज़्यादा बटन का चलन है, वहीं कॉम्पैक्ट कैमरा कि दुनिया में मोबाइल जैसा साइज, बड़ी स्क्रीन, कम बटन का चलन है. तो एक ऐसा कैमरा कैसे बनाया जाए जो सबसे अलग हो…
 
लीजिये, आ रहा है ‘लाइट L16’, पहले लुक में तो ये कैमरा अजीब लगता है. एक मोबाइल जैसी बॉडी और डिज़ाइन जिसमे दो बटन हैं किसी आम कॉम्पैक्ट कैमरा के जैसे, कैमरा को ऑन/ऑफ करने और फोटो खींचने के लिए. लेकिन जब हम कैमरा की बैक साइड को गौर से देखते हैं तो मिलते हैं 16 कैमरा लेंस. जी हां 16. दरअसल ये कैमरा 16 अलग-अलग तरह के लेंस का ग्रुप है.
 
जब आप आमतौर पर फोटो खींचते हैं तो हमारा एक लेंस काम करता है और उसके पीछे का सेंसर सामने कि पिक्चर को रिकॉर्ड करता है. मगर ‘लाइट L16’ कि खासियत ये है कि इसमें जब फोटो चिचति है तब इसके 16 में से 10 कैमरा लेंस एक साथ फोटो खींचते हैं. अलग-अलग तरह के लेंस होने कि वजह से ये एक ही फोटो कि कई कॉपीज़ खींचता है और उनमे से डिटेल्स मैच करके एक बड़ी इमेज बनती है.
 
लाइट कंपनी का दावा है कि इससे हमें इतने छोटे लेंस और सेंसर के बावजूद DSLR की क्वालिटी मिलती है. इस कैमरा में जो लेंस लगे हैं वो ग्रुप्स में लगे हैं यानि इसमें पांच लेंस 35mm के हैं, पांच 70mm के, और छ लेंस 150mm के हैं. सभी को एक साथ फिट करने के लिए 70mm और 150mm जैसे बड़े लेंस को ‘फोल्डेड ऑप्टिक्स’ टेक्नोलॉजी के साथ बांधा गया है, ताकि वो जगह बहुत कम लें. L16 के स्क्रीन पांच इंच कि है जिसपर सारे कंट्रोल होते हैं. इन लेंस कि वजह से L16 35mm से 150mm तक का ऑप्टिकल ज़ूम भी कर सकता है, और पूरी पिक्चर बनने के बाद 52 मेगापिक्सल तक कि बनती है…
 
लाइट का दावा है कि इस तकनीक से काम रौशनी वाली जगहों पर भी अच्छी डिटेल मिल जाती है. जब टेस्ट के रिज़ल्ट सामने आये तो ‘कैनन 5D मार्क III’ के मुकाबले फोटो कि कलर टोन उतनी लुभाने वाली नहीं थी लेकिन डिटेल के मामले में कम भी नहीं थी.
 
इस कैमरे के लिए आपको 2016 की गर्मियों तक का इंतज़ार करना पड़ सकता है. इसकी कीमत उस समय लगभग 1200 यूएस डॉलर रखी जा सकती है. हालांकि लाइट ने इस कैमरा के प्री-आर्डर अभी से शुरू कर दिए हैं वो भी एक भारी-भरकम 1699 यूएस डॉलर की कीमत पर.