अगरतला. त्रिपुरा सरकार ने मंगलवार को दुर्गा पूजा के मौके पर लोगों को अगरतला के पर्यटन स्थलों और पूजा समारोहों का हवाई मजा उठाने का मौका देते हुए एक हेलीकॉप्टर सेवा शुरू की है. राज्य की त्रिपुरा सड़क सेवा परिवहन निगम (टाआरटीसी) द्वारा प्रबंधित राज्य की राजधानी में इस सेवा की हर उड़ान 15 मिनट की होगी.
 
टीआरटीसी के प्रबंध निदेशक केशब कर के मुताबिक, दृश्यावलोकन और दुर्गा पूजा देखने के लिए प्रति वयस्क 1,400 रुपये और 12 वर्ष से कम उम्र के बच्चों के लिए 1,200 रुपये किराया निश्चित किया गया है. केशब ने कहा, ‘जॉय राइड की यह सेवा पवन हंस हेलीकॉप्टर लिमिटेड (पीएचपीएल) के आठ सीटों वाले हेलीकॉप्टरों में प्रदान की जाएगी.
 
सेवा 23 अक्टूबर से शुरू होगी.’ राज्य सरकार ने किराए पर सब्सिडी दी है. परिवहन विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि इसके साथ ही हेलीकॉप्टर सेवा जिला शहरों और राज्य के अन्य इलाकों में भी शुरू होने की संभावना है. त्रिपुरा पुलिस के इंस्पेक्टर जनरल नेपाल दास ने कहा कि अतिरिक्त सीमा सुरक्षा बल के जवानों को तैनात करके भारत-बांग्लादेश सीमा के आसपास और अन्य संघर्ष वाले इलाकों में कड़ी निगरानी सुनिश्चित कर दी गई है. 
 
दास ने कहा कि त्रिपुरा स्टेट राइफल्स के साथ ही अर्धसैनिक बलों, असम राइफल्स और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) ने उत्सवों में किसी भी प्रकार की बाधा को रोकने के मद्देनजर आतंकवाद संभावित और उत्तरपूर्वी राज्य के पहाड़ी इलाकों में अपने आतंकवाद विरोधी अभियान कड़े कर दिए हैं.
 
पूजा पंडालों और अन्य संवेनशील स्थलों के नजदीक सीसीटीवी कैमरे और मेटल डिटेक्टर लगा दिए गए हैं. पूरे त्रिपुरा में बम निरोधक दस्तों के अलावा 20,000 से भी अधिक सुरक्षाकर्मी और त्वरित प्रक्रिया टीमें तैनात की गई हैं. अधिकारी ने कहा कि खुफिया नेटवर्क को सक्रिय कर दिया गया है. पुलिस चौकियां स्थापित की गई हैं और मोबाइल और पैदल गश्त शुरू कर दी गई है. इस बार त्रिपुरा में करीब 2,510 सामुदायिक और लगभग 100 पारिवारिक दुर्गा पूजा आयोजित की गई हैं. 
 
IANS