बाराबंकी. उत्तर प्रदेश के बाराबंकी जिला कारागार में बंद हिंदू-मुस्लिम कैदियों ने सांप्रदायिक सौहार्द का एक अनूठा उदाहरण पेश किया है. जेल में बंद करीब 25 मुस्लिम कैदी हिन्दू कैदियों के साथ नवरात्रि का व्रत रख रहे हैं.
 
जेल प्रशासन ने इन कैदियों के लिए फलाहार की व्यवस्था की है. बाराबंकी कारागार में एक हजार से अधिक कैदी हैं. इनमें से लगभग 200 हिन्दू और 25 मुस्लिम कैदी इस साल नवरात्रि का व्रत रखे हुए हैं. ये सभी कैदी प्रथम नवरात्रि यानी 13 अक्टूबर से नियमित रूप से उपवास पर हैं.
 
जेल प्रशासन ने इनके लिए खाने-पीने की उन सभी चीजों की व्यवस्था की है, जो नवरात्रि में व्रतधारी के लिए जरूरी होती हैं. जेल अधीक्षक आलोक सिंह ने बताया कि कारागार में हिंदू-मुस्लिम भाईचारे की इस मिसाल से पूरा जेल प्रशासन खुश है. ऐसे में जेल के सभी कर्मचारी बड़े उत्साह के साथ इन कैदियों की मदद कर रहे हैं.
 
उन्होंने कहा कि जेल में हिंदू-मुस्लिम कैदियों ने एक साथ नवरात्रि का व्रत रखकर सांप्रदायिक सौहार्द का एक अनूठा उदाहरण पेश किया है. इससे सभी को प्रेरणा लेनी चाहिए.
 
IANS