नई दिल्ली. अगर आपको नींद नहीं आती है या आप अपनी नींद पूरी नहीं कर पा रही हैं तो आप अनिद्रा यानि नींद ना आने की बीमारी के शिकार है. पुरूषों से ज्यादा महिलाएं इस बीमारी की ज्यादा शिकार होती हैं, जिसका कारण है अनुवांशिक.

महिलाओं में नींद ना आने की संभावना 59 फीसदी होती है जबकि पुरूषों में 38 फीसदी होती है. अमेरिका के रिचमंड में वर्जीनिया कॉमनवेल्थ यूनिवर्सिटी में इस अध्ययन की लेखक मैकेंजी लिंड का कहना है कि महिलाओं में इस बीमारी के लक्षणों के विकास में जींस महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते है. लिंड का कहना पुरुषों से ज्यादा महिलाओं में ये बीमारी बेहद आम है, जिससे सोने में परेशानी होती है. इस शोध में लगभग 7500 लोगों ने हिस्सा लिया.