नई दिल्ली. दिवाली यानि खुशियों का त्योहार बस आने को ही है कि बाजारों में दीपावली की चकाचौंध अभी से शुरू हो गयी है. दिवाली सालभर के बड़े त्योहार में से एक है. इस दिन लोग धन-धान्य के लिए मां लक्ष्मी की पूजा करते हैं. लेकिन इतनी तैयारियों के बीच अगर आप के घर में या आप को अस्थमा जैसी समस्या है तो अपनी सेहत के प्रति ध्यान देना न भूलें. दिवाली के दिन दीपों के बीच बम दिवाली पटाखों का धुआं भी होता है जो किसी के लिए भी जानलेवा हो सकता है. इस बीच ये प्रदूषण अस्थमा से पीड़ित इसीलिए आज हम अपनी खबर के माध्यम से आपको बता रहे हैं कि इस दिवाली 2017 आप कैसे प्रदूषण रहित चीजें कर अपनी सेहत का ख्याल रख सकते हैं. 
 
1.भाप लें
दिवाली के दिन आमतौर पर प्रदूषण का लेवल बढ़ जाता है. इसीलिए इस दिन आप घर में स्टीम लेने का प्रबंध करें. यदि आपके घर में स्टीमर नहीं है तो एक पतीले में पानी गरम कर आप स्टीम लें सकते हैं. ऐसा करने से श्वासनली में दूषित कण नहीं रहते और आपको अस्थमा जैसी गंभीर बीमारी से बच सकते हैं. 
 
2. घर से न निकलें
प्रदूषण के कारण दिवाली के दो दिन बाद तक आसमान में स्मॉग जम जाता है. ऐसे में जितना हो सकें उतना घर से न निकलें. पटाखों से जारी धुआं में सल्फर डाइऑक्साइड और कार्बन मोनोऑक्साइड हो जाते हैं. ये गैसें अस्थमा ट्रिगर कर सकती हैं. इसीलिए जितना हो सकें उतना अपने कमरे को पटाखे से धुएं से मुक्त रखें.
 
3. मास्क लगाएं
पटाखों से होने वाले धुएं से बचने के लिए मास्क लगाकर या दुपट्टे से नाक को ढक कर बाहर निकलें. यदि आपका घर खुला है तो एक मास्क लगा कर रखें. ऐसा करने से आप प्रदूषित धुएं से बच सकते हैं.
 
4. सांस से जुड़ी दिक्कत है तो इनहेलर साथ रखें
अगर आप को सांस से जुड़ी कोई भी समस्या है तो इन दिनों आप अपनी दवाएं और अपने इनहेलर को अपने पास रखें.क्योंकि इन दिनों प्रदूूषण का लेवल सामान्य दिनों से कई गुना बढ़ जाता है.
 
5. तला व बाहर का खाना न खाएं
दिवाली के अवसर पर घरों में कई तरह के पकवान बनते हैं तो इस बीच आप अपनी सेहत का ध्यान रखते हुए ज्यादा तैलीय खाना न खाएं. ज्यादा तेल मसाला भी सेहत को नुकसान पहुंचाता है. साथ ही एल्कोहल व सिगरेट का सेवन भी सेहत के लिए हानिकारक होगा. 
 
ये भी पढें- 
ये भी पढें- 
 
वीडियो-