नई दिल्ली. लड़कियां अक्सर अपने नाखूनों को खूबसूरत बनाने के लिए नेलपॉलिश लगाती हैं. इतना ही नहीं नेलपॉलिश तो आजकल डेली फैसल का एक पार्ट बन चुका है. लेकिन आपने शायद ही कभी यह सोचा होगा कि नेलपॉलिश लगाने से आप एक जानलेवा बीमारी की चपेट में आ सकते हैं.
 
जी हां नेलपॉलिश के इस्तेमाल से आप स्कीम कैंसर की चपेट में आ सकते हैं. दरअसल, नेलपॉलिश में टालुइन नाम का कैमिकल मिलाया जाता है, जो कि उसे स्मूथ फिनिशिंग देता है. इस कैमिकल का इस्तेमाल आमतौर पर कार में ईंधन डालने वाले गैसोलीन में किया जाता है. यह कैमिकल हमारी नर्वस सिस्टम और दिमाग के अलावा हमारे रिप्रोडक्टिव सिस्टम पर भी असर डालती है.
 
 
जानकारों की मानें तो इस नेलपॉलिश को लचीला बनाने के लिए डाइब्यूटाइल पैथेलेट का इस्तेमाल किया जाता है, जो कि रिप्रोडेक्टिव ट्रैक्ट को काफी नुकसान पहुंचाती है. खास बात यह है कि यूरोप के कई देशों में इस कैमिकल के इस्तेमाल पर पाबंदी भी है. 
 
 
हो सकता है स्कीन कैंसर
एक रिसर्च में इस बात का पता चला है कि नेल पॉलिस के इस्तेमाल से स्किन कैंसर भी हो सकता है. क्योंकि नेल पॉलिश में एक जैल मिलाया जाता है. यह जैल सूर्य की खतरनाक अल्ट्रावायलट किरणों को सोख लेती है और यही किरणें कैंसर को भी जन्म देती हैं. जिससे स्कीन कैंसर का खतरा हो सकता है. इसलिए नेलपॉलिश लगाते समय इस बात का ध्यान जरूर रखें.