नई दिल्ली. गर्मी का मौसम अपने साथ चकते पड़ना, धूप से त्वचा का झुलसा व पपड़ी उतरना जैसी तमाम दिक्कतें लेकर आता है. त्वचा विशेषज्ञों की सलाह है कि ऐसे में रोजाना क्लींजिंग, टोनिंग और मॉश्चराइजिंग के साथ ही पोषक आहार लेना जरूरी है. मेडिकल सर्विसेज एवं आरएंडबी की उपाध्यक्ष एवं काया स्किन क्लीनिक की प्रमुख डॉक्टर संगीता वेलासकर ने गर्मी में अपनी त्वचा की देखभाल के कुछ ऐसे ही सुझाव दिए हैं.

  • धूप से बचाव: ऐसे सनस्क्रिन का चुनाव करें जो आपकी त्वचा को सूर्य की हानिकारक किरणों से बचाए. भारतीय त्वचा के हिसाब से 30 एसपीएफ वाला सनस्क्रिन सर्वश्रेष्ठ है. घर से बाहर निकलने से 20 से 30 मिनट पहले सन स्क्रिन लगाएं. धूप का चश्मा भी लगाएं.
  • रोजाना की सफाई भी जरूरी: त्वचा को रोगमुक्त रखने के लिए रोजाना दो बार क्लींजिंग, टोनिंग व मॉश्चराइजिंग करने की आदत डालें.
  • स्क्रब का इस्तेमाल: रूखी-सूखी, बेचैन त्वचा से पिंड छुड़ाने के लिए स्क्रब करना जरूरी है. स्क्रब करने से मृत एवं पुरानी त्वचा कोशिकाएं हट जाती हैं. कोहनी और घुटनों से मृत उत्तकों को हटाने के लिए एक-एक दिन छोड़कर उन पर चीनी के साथ नींबू की फांक को हल्के हाथों से रगड़ें.
  • बालों की समस्या: गर्मियों में बालों की नमी खो जाती है. ऐसे में किसी भी तरह के केमिकल और हेयरस्टाइल बनाने वाले उपकरणों से परहेज करना चाहिए. जल्दी-जल्दी शैंपू का इस्तेमाल करने से बचें. बालों के लिए नरम शैंपू व कंडीशनर का भी इस्तेमाल करें.
  • पैर: दिन के दौरान सनस्क्रिन और शाम में हल्के मॉश्चराइजर का प्रयोग करें.
  • पौष्टिक खानपान: गर्मियों में खूब सारा पानी पीने, हल्का और पोषक खाना खाने की सलाह दी जाती है. अपनी त्वचा को हाईड्रेट रखने के लिए ताजे फल व हरी सब्जियां खाएं. अपने खाने में खीरा, ककड़ी, करेला, पालक, तरबूज, संतरा, चेरी, प्लम और लीची जैसी सब्जियों व फलों को शामिल करें. (IANS)