नई दिल्ली. Google दुनिया का सबसे बड़ा सर्च इंजन है लेकिन सोशल नेटवर्किंग के बिजनेस में उसे एक बार फिर असफलता का सामना करना पड़ा है. गूगल अपनी सोशल नेटवर्किंग साइट google+ को विदाई देने की तैयारी कर चुका है. गूगल ने G+ को चार साल पहले बड़ी उम्मीदों के साथ शुरू किया था. उम्मीदें तो इतनी थीं कि फेसबुक को पीछे कर देंगे लेकिन लगातार तीसरी बार ऐसा हो नहीं सका. 

आपको बता दें कि ऐसा पहली बार नहीं है जब गूगल सोशल नेटवर्किंग मार्किट में बुरु तरह विफल हुआ है. इससे पहले Orkut और गूगल बज भी गूगल के ही प्रोडक्ट थे जो फेसबुक के सामने हार गए. सोशल नेटवर्किंग से पहली पहचान कराने वाला ओरकुट गूगल की सबसे ज्यादा और लंबे समय तक चलने वाली सेवा थी. Buzz सोशल नेटवर्किंग, माइक्रोब्लॉगिंग और मैसेजिंग टूल था. कहा जा सकता है कि गूगल बज एक तरह से फेसबुक और ट्विटर दोनों का मेल था, लेकिन यूजर्स को यह पसंद ही नहीं आया.