नई दिल्ली. मंगल ग्रह की सतह पर घूम रहे नासा के मार्स रोवर को कुछ ऐसा मिला है जिससे विज्ञानियों के बीच खलबली पैदा हो गयी है. मार्स रोवर को एक ऐसी आकृति दिखाई दी है जो मिस्र के पिरामिड जैसी नजर आ रहा है. नासा के क्यूरिऑसिटी रोवर ने मंगल ग्रह पर बने पिरामिड की तस्वीर खींची है. काल्पनिक सिद्धांत पेश करने वालों का दावा है कि यह पिरामिड मंगल ग्रह पर रही किसी सभ्यता की निशानी है.

इस पिरामिड का आकार एक कार के बराबर है और ज्यादातर लोगों का मानना है कि यह संयोग से बनी चट्टान है. कुछ लोगों का यह भी मानना है कि शायद हवा की वजह से चट्टान पिरामिड जैसी बन गई है. यूट्यूब चैनल पैरानॉर्मलक्यूबिकल का कुछ और ही कहना है. चैनल का दावा है कि पिरामिड का एकसदम सही डिजाइन और आकार में होना दिखाता है कि इसे समझदारी से बनाया गया है. यह सिर्फ रोशनी और साए का खेल नहीं है.

कुछ लोगों ने तो यहां तक कहना शुरू कर दिया है कि यह पिरामिड दरअसल जमीन में दबे बड़े ढांचे की ऊपरी नोक भर है. ऐसा पहली बार नहीं है, जब काल्पनिक सिद्धांत पेश करने वालों ने मंगल ग्रह की तस्वीर को लेकर इस तरह का दावा किया है. इस साल की ही शुरुआत में मंगल ग्रह पर मशरूम जैसा बादल और क्यूरिऑसिटी की मरम्मत कर रहे कर्मचारी की परछाई देखने को दावा किया गया था. इससे बहुत पहले मंगल ग्रह की खींची गई तस्वीर में बड़ा सा इंसानी चेहरा होने का दावा किया गया था. कहा जा रहा था कि इस चेहरे को एलियंस ने बनाया है, मगर बाद में साफ हुआ कि वह अपने आप बना है.

एजेंसी