नई दिल्‍ली. अंतरराष्‍ट्रीय योग दिवस के मौके पर भारत समेत दुनिया भर के 177 देशों में लोगों ने रविवार को योग अभ्‍यास किया. अकेले राजपथ पर ही करीब 35 हजार लोगों (नेता, ब्‍यूरोक्रेट्स, सैनिकों और स्‍कूली छात्रों) ने योग किया.  ‘एक ही स्थल पर सबसे बड़े योग प्रदर्शन’ के लिए भारत सरकार इसे गिनीज वर्ल्ड रिकार्ड्स में दर्ज कराना चाहती है. हालांकि इससे पहले साल दुनिया भर में योग से जुड़े कई रिकॉर्ड बन चुके हैं. 

आपको बता दें कि इससे पहले मध्‍य प्रदेश के ग्‍वालियर में वर्ष 2005 में जीवाजी विश्‍वविद्यालय में ‘एक ही जगह पर सबसे ज्‍यादा लोगों द्वारा योग’ करने का वर्ल्‍ड रिकॉर्ड बन चुका है. यहां 362 स्‍कूलों के 29,973 छात्रों ने करीब 18 मिनट तक योग क्रिया ‘सूर्य नमस्‍कार’ किया था. इसके अलावा कनाडा में यास्मीन फुदकोव्स्का गौ ने वर्ष 2010 में सबसे अधिक ज्‍यादा वक्‍त तक योग किया था. यह किसी महिला द्वारा सबसे लंबे समय तक योग अभ्‍यास किए जाने का वर्ल्‍ड रिकॉर्ड था. कनाडा के मोंट्रियल में यास्मीन ने 1008 योग आसन किए थे, जिसे मीडिया में खूब करवेज मिली थी. यास्‍मीन ने 2 अगस्‍त 2010 की सुबह योग अभ्‍यास शुरु किया, जोकि अगले दिन तक जारी रहा. इस तरह यास्‍मीन ने कुल 17 घंटों तक योग किया.

योगराज सीपी ने भी 15 फरवरी 2015 को सबसे लंबे समय तक पुरुष योग मैराथन का रिकॉर्ड बनाया था. उन्‍होंने हांग-कांग में 40 घंटे 15 मिनट तक योग अभ्‍यास किया था. इस दौरान उन्‍होंने करीब 1200 योग आसनों को किया था, जिसका सीधा प्रसारण यू-टयूब पर किया गया था. 10 मई 2015 को चीन के शेनयांग मडिएन महिला और बच्चों के अस्पताल में 553 महिलाओं ने प्रसव पूर्व योग अभ्‍यास किया था। प्रतिभागियों ने 33 मिनट 26 सेकेंड तक योग क्रियाएं की थी.

तमिलनाडु के क्षत्रिय विद्याशाला प्रबंध बोर्ड ने भी 14 नवंबर 2014 को सबसे लंबी योग श्रृंखला आयोजित की थी. इसमें 3849 लोगों ने भाग लिया था. शांतिवन ट्रस्‍ट धर्मस्‍थल ने 13 दिसंबर 2013 में दक्षिण कन्‍नड़ और उडुपी जिलों में सबसे बड़े योग अभ्‍यास कार्यक्रम का आयोजन किया था. इसमें करीब 62,824 लोगों ने भाग लिया था.