नई दिल्ली.  नए रिसर्च में पता चला है कि शरीर में कोलेस्ट्रॉल की ज्यादा मात्रा हड्डियों पर भी बुरा असर डाल सकता है. कोलेस्ट्रॉल की वजह से ऑस्टियोअर्थराइटिस होने की आशंका बहुत बढ़ जाती है.  

इसका रिसर्च टीम करने वाली टीम में भारतीय वैज्ञानिक भी शामिल हैं. रिसर्च टीम का दावा है कि इस बीमारी से निपटा जा सकता है. इससे एंटीऑक्सीडेंट की मदद से माइटोकांडिया को ठीक किया जा सकता है.
 

गौरतलब है कि अभी तक कोलेस्ट्रॉल की वजह से दिल बीमारी होने का खतरा माना जाता था. कोलेस्ट्रॉल मोटापे का भी कारण होता है. लेकिन इस नए रिसर्च से एक बार फिर से आज की दिनचर्या को लेकर सवाल उटने लगे हैं. 
 
क्यों बढ़ता है कोलेस्ट्रॉल
कोलेस्ट्राल बढ़ने का सबसे बड़ा कारण आज की दिनचर्या और खानपान है. आज के दौर में लोग हेल्दी डाइट लेने के बजाए जंक फूट पर ज्यादा निर्भर रहते हैं. जो कभी तली-भुनी और फैट से युक्त होती हैं. इसके अलावा व्यायाम और मेहनत के काम से भी दूर होते जा रहे हैं. इन वजहों से भी कोलेस्ट्रॉल बढ़ जाता है.
 
क्या होता है कोलेस्ट्रॉल
कोलेस्ट्रॉल एक फैट है, जो लिवर से पैदा होता है. यह शरीर के सभी अंगो को चलाने के लिए जरूरी होता है.यह मोम जैसा चिकना पदार्थ होता है. जो ब्लड प्लाज्मा के साथ शरीर के हिस्सों में पहुंचता है.

इसके दो प्रकार होते हैं. एलडीएल (लो डेन्सिटी लिपोप्रोटीन) और एचडीएल (हाई डेन्सिटी लिपोप्रोटीन). एलडीएल को हानिकारक माना जाता है. इसकी ज्यादा मात्रा धमनियों को संकरा कर देता है. जिससे ब्लड सर्कुलेशन रूकने लगता है. यह दिल की बीमारियों और स्ट्रोक का बड़ा कारण होता है. 

 
कोलेस्ट्रॉल को कैसे कंट्रोल
इसके लिए फल, सब्जियां, साबुत अनाज अधिक मात्रा में सेवन करना चाहिए. फैट बढ़ाने वाली चीजों को कम खाना चाहिए. कम नींद से भी कोलेस्ट्रॉल बढ़ जाता है. फाइबरयुक्त भोजन करें और स्मोकिंग, शराब के सेवन से बचना चाहिए. अगर घर में किसी को भी कोलेस्ट्रॉल से संबंधित बीमारी हो चुकी तो फिर हर रोज व्यायाम शुरू कर देना चाहिए.