नई दिल्ली. आजकल लिव-इन रिलेशनशिप में रहना तो आम बात है. इसका ट्रेंड भी बढ़ रहा है. इसके बारे में हर कोई अच्‍छी तरह से जानता भी है. शादी के पहले जब दो प्‍यार करने वाले एक साथ रहना शुरु कर देते हैं, तब उसे लिव-इन रिलेशनशिप का नाम दे दिया जाता है.

इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर

हमारे समाज में लिव-इन रिलेशनशिप को ज्‍यादा अच्‍छी नजऱ से नहीं देखा जाता है, लेकिन जो लिव-इन में रहते हैं वो इसे सही मानते हैं. लिव इन रिलेशनशिप में रहने के नुकसान के साथ-साथ फायदे भी है.जाने इनके फायदे के बारे में.

ज्‍यादा वक्‍त साथ में बिताना.
जब आप किसी के प्‍यार में होते हैं, तब आपको उसके साथ ज्यादा से ज्यादा वक्त बिताना अच्छा लगता है. ऐसे में लिव इन में रहने का यह फायदा होता है कि आप अपने प्यार के साथ ढेर सारा समय निकाल सकते हैं.

पैसों की बचत
अगर आप एक साथ रहते हैं तो इससे आप दोनों के भी पैसे बचते हैं. चाहे वह घर का किराया हो या फिर ट्रैवलिंग का खर्च या खाने का खर्चा.

रोमांस हमेशा कर सकते हैं
लिव इन में रहने का सबसे ज्यादा फायदा यह है कि आपको दोनों को रोमांस के लिये तरसना नहीं पड़ता, आप कभी भी अपने पार्टनर को किस कर सकते हैं. कभी भी संबंध बना सकते हैं.

अलग होने में दिक्‍कत नहीं
लिव-इन में रहने से आप फ्री रहते हैं इसमें शादी की तरह यह रिश्‍ता कानूनी तौर पर बांध कर नहीं रखता. इसलिए जब लगे कि आप दोंनो एक दूसरे से खुश नहीं है तो आप बिना किसी कागजी कारवाही के अलग हो सकते हैं.

लिव-इन के बाद शादी में सुख
कई साल तक लिव-इन में रहने के बाद जो शादी करते हैं. उनका दांप्तय जीवन आसानी से बीतता है. क्‍योंकि अपने पार्टनर को अच्‍छी तरह से समझ चुके होते हैं. लिव-इन में रहने के बाद शादी के बारे में आराम से विचार कर सकता है.