नई दिल्ली. हिंदू रिवाज के मुताबिक व्रत में कई बातों का ध्यान रखना पड़ता है कई में पानी न पीने का तो कई में न खाने का लेकिन क्या आपकों पता है कि व्रत में एक अहम बात का भी ध्यान रखना होता है. जी हां ये अहम ध्यान है सेक्स न करना. हिंदू धर्म में नवरात्र एक ऐसा त्योहार है जिसमें 10 दिन तक मां दूर्गा की पूजा होती है और जो इस दौरान व्रत रखते है उनके लाइफ थोड़ी कठीन होती है.
 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
रिसर्च के मुताबिक अगर आप व्रत के दौरान सेक्स करते है तो वह बहुत बड़ा पाप माना जाता है पर कभी सोचा है ऐसा क्यों माना जाता है. varta एक तपस्या है यह आपके अंदर के स्वच्छ ब्रह्मचर्य, सत्य धैर्य का अभ्यास हैं. vrata को लेकर कई नियम कानून बनाए जाते हैं. 
 
एक अंग्रजी वेब पॉरटल के मुताबिक फास्ट के दौरान सेक्स करना वैज्ञानिक रुप से गलत है लेकिन कहीं-कहीं इसे अंधविश्वास के से भी जोड़ा जाता है.
 
फास्ट में सेक्स क्यों न करें ?
 
फास्ट के दौरान बॉडी में एनर्जी कम होती है और सेक्स के दौरान पार्टनर जल्दी थक जाते है. फास्ट के दौरान सेक्स इसलिए भी मना किया जाता है क्योंकि पार्टनर्स में वो फिलींग नहीं आ पाती जो और दिनों में वो उत्साह से करते है . इसकी वजह यह है कि व्रत रखने वाले के अंदर कहीं न कहीं चिढ़-चिढ़ापन आ जाता है.
 
कई रिसर्च में खाने से सेक्स की तुलना की जाती है. लेकिन फास्ट के दौरान इसे बिल्कुल न करें क्योंकि खाने के बिना नहीं रह सकते लेकिन सेक्स के बिना रह सकते है.
 
किस करने से खिचती है एनर्जी
जाहिर है आप अगर सेक्स करेंगे तो किस भी करेंगे और फास्ट में इतनी एनर्जी नहीं होती कि आप अपने शरीर की एनर्जी को ऐसे यूज करे. इसिलए ये कारण कई तरह की सीख देता है.
 
सेक्स में हो जाती है थकावट
सेक्स करने के बाद क्या आप जानते है शरीर पूरी तरह थक जाता है. जी हां पार्टनर ने व्रत रखा होता है और उसके शरीर में वो एनर्जी नहीं हो पाती की आपका सेक्स में साथ दे.
 
भूख लग सकती है
फास्ट में सेक्स करने से आपकी एनर्जी लौस होगी और सकता है आपको भूख लग जाए, जिसके कारण व्रत का डर ज्यादा होता है.
 

इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर