नई दिल्ली. हर साल राखी पर शुभ मुहर्त के चक्कर में भाई-बहन को घंटों तक भूखा रहना पड़ता है. लेकिन इस साल आपको रक्षाबंधन पर ज्यादा कष्ट करने की जरूरत नहीं.
 
रिपोर्ट्स के मुताबिक सावन की पूर्णिमा को मनाया जाना वाला रक्षाबंधन का त्योहार इस साल कई मायनों में खास होगा. भाई-बहन के रिश्ते को प्यार की डोर से मजबूत करने वाले इस पर्व को लेकर देशभर में गजब का उत्साह है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
बाजारों में राखियों और मिठाइयों की दुकानों पर जबरदस्त रौनक है. राखी की शॉपिंग को लेकर लोगों में काफी उत्साह है, हर तरफ कलरफुल राखी और मिठाइयों से दुकानों पर लोगों की भीड़ इस त्योहार की रौनक को और बढ़ा देती है.
 
इसी शुभ मुहर्त में भाई को राखी बांधे
गुरुवार 18 अगस्त को सूर्योदय से पहले 3 बजकर 51 मिनट पर ही भद्रा समाप्त हो जाएगी. 3 साल बाद ऐसा संयोग बना है जब राखी बांधन के लिए भद्रकाल देखने की जरुरत नहीं है. हालांकि दोपहर 12 बजकर 44 मिनट से चूकि पंचक लग जाएगा, इसलिए सूर्योदय से लेकर 12.44 तक राखी बांधना श्रेष्ठ रहेगा.