नई दिल्ली. यह खबर अपने आप में किसी की भी होश उड़ाने के लिए काफी है, क्योंकि रोजाना इस्तेमाल होने वाले टूथपेस्ट में जहर होना वाकई चौंकाने वाली बात है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
इसका खुलासा हाल ही में दिल्ली में हुए एक रिसर्च में इस बात का खुलासा हुआ है. अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक रोजाना इस्तेमाल होने वाले टूथपेस्ट और हैंडवॉश में जहर पाया गया है. यह रिसर्च पर्यावरण के लिए काम करने वाली एक संस्था टोक्सिक लिंक द्वारा किया गया.
 
इस दौरान दिल्ली के अलग-अलग इलाकों से साबुन, हैंडवॉश और टूथपेस्ट के सैंपल लिए गए, जिन्हें श्रीराम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडस्ट्रियल रिसर्च जांचे के लिए भेजा गया.
 
जब रिजल्ट सामने आया तो पता चला कि 72 फीसदी सैंपलों में जानलेवा केमिकल ट्राइक्लोसन पाया गया. बताया जा रहा है कि इस केमिकल के कारण कैंसर जैसी भयावह बीमारियां हो सकती हैं. ट्राइक्लोसन की वजह से पानी भी प्रदूषित हो जाता है. रिसर्च के दौरान एक साबुन और चार टूथपेस्ट के सैंपल में ट्राइक्लोसन 3000 पीपीएम की तय मात्रा से अधिक पाया गया, जो कि जानलेवा है.